अफवाहों पर ना दे ध्यान, यह है WhatsApp की New Privacy policy की सच्चाई

नई दिल्ली : WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी (New Privacy policy) को लेकर तमाम सवाल उठ रहे है। देश की कई सारी संस्थाओं ने इसको लेकर सरकार (Government of India) को चेताया है। लेकिन अभी तक व्हाट्सएप (WhatsApp) ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि वह अपने यूजर्स का कितना डेटा फेसबुक के साथ शेयर करेगा। WhatsApp के यूजर भी इसे लेकर असमंजस में है कि उनका प्राइवेट चैट सुरक्षित है या नहीं। दूसरी तरफ वॉट्सएप ने साफ कह दिया है कि ऐप का इस्तेमाल करने के लिए यूजर को 8 फरवरी तक हर हाल में नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार्य करना ही होगा।

अपने यूजर की चिंताओं और इसे लेकर लगातार उठ रहे सवालों को लेकर व्हाट्सएप (WhatsApp) ने एक ब्लॉग लिखा है। जिसमें कंपनी ने स्पष्ट लिखा है कि व्हाट्सएप यूजर्स के प्राइवेट चैट को एक्सेस नहीं कर सकता। व्हाट्सएप ने कहा कि यह अपडेट बिजनेस अकाउंट (Business Account) को लेकर है, उसमें भी कंपनी ने स्पष्ट किया है कि कंपनी यूजर्स का किस तरह का डेटा उपयोग करेगी और कहां पर उपयोग करेगी।

प्राइवेट चैट को लेकर सवालों पर दिया जवाब

व्हाट्सएप ने कहा कि वह भी यूजर की मर्जी पर है, जब यूजर इसकी परमिशन देंगे तभी कंपनी उनके डेटा को थर्ड पार्टी के साथ शेयर कर सकती है। WhatsApp ने दावा किया कि यूजर के प्राइवेट चैट end-to-end encryption से protected होते हैं। जिसे WhatsApp एक्सेस नहीं कर सकता। हालांकि सवाल यह भी उठ रहे हैं कि प्राइवेट चैट के अलावा भी व्हाट्सएप पर यूजर्स का डेटा होता है। जिसे लेकर कंपनी ने कोई भी अस्पष्ट जवाब नहीं दिया है।

इसके अलावा व्हाट्सएप को लेकर यह भी सवाल उठ रहे हैं कि कंपनी कहीं यूजर्स के मैसेंजर और कॉलिंग डेटा को शेयर करने की तैयारी में तो नहीं है। इस सवाल को लेकर व्हाट्सएप ने जवाब दिया क्या इसकी जानकारी सिर्फ मोबाइल कंपनी और ऑपरेटर के पास होती है।

WhatsApp के कॉन्टैक्ट को Facebook करेगा एक्सेस

इसको लेकर कंपनी ने कहा कि फेसबुक व्हाट्सएप पर कांटेक्ट को तभी एक्सेस कर सकता है जब यूजर्स इसकी परमिशन देगा। फेसबुक सिर्फ नंबर सेक्स कर सकता है इससे यूजर्स की मैसेजिंग तेज हो जाएगी। इसे फेसबुक अपने दूसरे ऐप के साथ शेयर नहीं करेगा। इसके अलावा ग्रुप चैट को लेकर सवालों का व्हाट्सएप ने कहा कि सभी चैट end-to-end encryption से प्रोटेक्टेड होता है, जिसे सेंडर और रिसीवर के अलावा कोई नहीं पढ़ सकता।

इसे भी पढ़े: कोरोना वैक्सीन की पहली खेप पहुंची लखनऊ, 16 तारीख से होगा टीकाकरण

Related Articles

Back to top button