परिवार ने छोड़ा साथ तो Lucknow पुलिस ने बढ़ाया हाथ, पत्रकार चंदन के शव को दिया कंधा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। रोजाना कोरोना संक्रमण के आंकड़े लोगो के दिलो में डर बसा रहे है। उससे ज्यादा खतरनाक है मौत का मंजर। यहां के राजधानी लखनऊ (Lucknow) में मौत के आंकड़े रोज बढ़ रहे है और कोरोना हर किसी की जान लेकर मान रह है। इसी बीच गुरुवार को लखनऊ (Lucknow) में कोरोना संक्रमित हुए पत्रकार चंदन प्रताप सिंह निधन हो गया। उनका परिवार बंगाल में रहता है। इस कारण कोई उनके शव लेने नहीं पहुंच सका।

गुरुवार से उनका शव पोस्टमार्टम हाउस में यूं ही रखा था क्योंकि लाश लावारिश नहीं थी, इसलिए उनका अंतिम संस्कार नहीं किया गया। ऐसे में कोई रिश्तेदार व परिवारजन नहीं झांका। जब इस मामले की जानकारी गोमतीनगर थाने के इंस्पेक्टर को लगी तो तुरंत पुलिस टीम भेजी।

पुलिसवालों ने कराया पोस्टमार्टम

पुलिसवालों ने पोस्टमार्टम कराया और फिर मिशन संवेदना के तहद पूर्व पार्षद रंजीत सिंह और डॉ सय्यद रिजवान अहमद शव को बैकुंड धाम श्मशान घाट ले गए। जहां पुलिस वालों ने इंसानियत की मिसाल पेश करते हुए लावारिस शव के वारिस बनकर अर्थी को कंधा दिया और अंतिम संस्कार कर अपना फर्ज निभाया।

अकेले रहते थे

जानकारी के मुताबिक, पत्रकार चंदन प्रताप सिंह गोमतीनगर में एक किराये के कमरे में अकेले रहते थे। गुरुवार को उनके कमरे में मृत अवस्था मे मकान मालिक ने देखा। फिर मकान मालिक ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंच कर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सोशल मीडिया पर एक अपील भी की थी। जिसमें उनके परिजन से संपर्क कराने को कहा गया था।

ये भी पढ़ें: कोरोना की दूसरी लहर से घबराया America, अगले हफ्ते से भारत की यात्रा पर लगाई रोक

वरिष्ठ पत्रकार के भतीजे थे चंदन

आपको बता दें कि चंदन वरिष्ठ पत्रकार सुरेंद्र प्रताप सिंह के भतीजे थे। शुक्रवार को जब कोई परिजन उनके शव को लेने नही आया, तो पुलिस ने अपना फर्ज निभाया और उनका अंतिम संस्कार  किया। गोमतीनगर थाने में तैनात एसआई दयाराम साहनी, अरुण यादव, राजेंद्र बाबू और प्रशांत सिंह ने चंदन के शव को कंधा दिया।

ये भी पढ़ें: पंजाब के सामने RCB हुआ नतमस्तक, किंग्स ने बेंगलुरु को 34 रनों से मैदान में चटाई धूल

पुलिस कमिश्नर ने किया ट्वीट

पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने ट्वीट करके लिखा कि, बुरे वक्त में भले सगे भी साथ छोड़ दें,पर यूपी पुलिस हर दुख सुख में खड़ी है आपके साथ। लखनऊ पुलिस की तरफ से मैं अपने उन सभी साथी अधिकारियों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने आखिरी वक्त मे अकेले पड़े चंदन सिंह जी के पार्थिव शरीर का अपने परिवार की तरह पूरे विधि विधान से अंतिम संस्कार किया।

 

Related Articles