आखिर कौन कब्र से निकाल ले गया तानाशाह सद्दाम हुसैन का शव ?

अवजा। दशकों तक ईराक की सत्ता पर एकछत्र राज करने वाले तानाशाह सद्दाम हुसैन को फंसी देने के बाद उन्हें उनके पैतृक गांव अल-अवजा में दफनाया गया था। अब खबर आरही है कि वहां से उनके शव के अवशेष मौजूद नहीं है। उनकी कॉन्क्रीट की टूटी-फूटी कब्र खाली पड़ी मिली है। 30 दिसंबर 2006 को दफनाया गया था।

सद्दाम हुसैन

आपको बता दें कि फांसी देने के बाद हेलीकाप्टर से उनके शव को उनके पैत्रक गांव बगदाद से तिकरित के उत्तरी शहर के नजदीक अल-अवजा ले जाया गया था। यहीं उनके शव को बाकायदा दफनाया गया लेकिन अब सद्दाम हुसैन के शव के अवशेष वहां मौजूद नहीं है। इसके बाद कई सवाल उठ रहे हैं, क्या दफनाने के बाद उनके शव को निकाल लिया गया था या अब निकला गया है आखिर कहाँ है उनका शव।

अल्बू नासेर समुदाय के नेता शेख मनफ अली अल-निदा जो कि सद्दाम हुसैन के वंश से जुड़े है, का कहना है कि सद्दाम को बिना देरी के दफन कर दिया गया था। 69 साल के सद्दाम को दफनान एके बाद यह एक तीर्थ स्थल बन गया।  हर साल उनके जन्म दिन 28 अप्रैल के अवसर पर समर्थक और स्थानीय स्कूली बच्चों के समूह इकट्ठा होता है।

यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम होते हैं। यहां आने वाले लोगों बाकायदा अनुमति लेनी पड़ती है। निदा का कहना है कि कब्र के ऊपर इस्लामिक स्टेट ने अपने स्नाइपर तैनात कर दिए थे, जिसके बाद इराक ने वहां हवाई हमले किए और वो जगह तबाह हो गई। हालाँकि हमले के वक़्त शेख मौजूद नहीं थे लेकिन उनका कहना है कि हमले के वक़्त सद्दाम का कब्र खोला गया और उसे जला दिया गया। जबकि सुरक्षा प्रमुख का कहना है कि सद्दाम का शव वहीँ मौजूद है।

Related Articles