प्यार, मुक्के या गुंडई आखिर किसका हैं ये Toofaan? देखें फुल फिल्म रिव्यू

फिल्म 'Toofaan' 16 जुलाई को रिलीज को Amazon Prime पर रिलीज कर दी गई थी। इस फिल्म को राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने डायरेक्ट किया है। लीड रोल में फरहान अख्तीर, मृणाल ठाकुर, परेश रावल, मोहन अगाशे, दर्शन कुमार है।

लखनऊ: फिल्म तूफान (Toofaan) 16 जुलाई को रिलीज को Amazon Prime पर रिलीज कर दी गई थी। इस फिल्म को राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने डायरेक्ट किया है। लीड रोल में फरहान अख्तीर, मृणाल ठाकुर, परेश रावल, मोहन अगाशे, दर्शन कुमार है। देखिए फिल्म तूफान का थीम है मौसम यानी वेदर, जो एक दिन से दूसरे दिन में, न जाने कितनी बार बदल जाता है। एक ऐसा इंसान जो आज बदनाम है तो कल उसका नाम न्यूजपेपर में छपेगा।

फिल्म का Concept और कास्ट

फिल्म का Concept तो No Doubt दमदार है, लेकिन बहुत सारी किन्तु परन्तु है। आपको बता दें, फिल्म तूफान में अज्जू भाई Street Flighter है। इनका धंधा है खौफ फैलाने का उनका ऐसा मानना है की कोई उनके आंखो में देखें तो, डर से उसकी पैंट गिली हो जानी चाहिए। फिर उनके लाइफ में एंटरी होती है एक डॉक्टर मैडम Ananya Prabhu की, जो उन्हें Boxer Aziz Ali बने का रास्ता दिखाती है। उनका कहना है हाथ चलाना है तो मार-पीट के लिए नहीं Boxing Ring में चलाओ। अब इस फिल्म में द्रोणाचार्य के लेवल के गुरू है ‘प्रभु सर’ है, जो मुंबई के बेस्ट Boxing गुरू है।

Aziz Ali का मोहम्द अली बनने का सपना इनसे हो कर गुजरता है। अब बारी है फिल्म में विलन के एंटरी की। तो आपको बता दें, विलन बन गया है धर्म। इस फिल्म में आपको मोहब्बतें का वर्जन .2 देखने को मिलेगा। अपने गुरू जी के बेटी से Dangerous इश्क जिसमें, किसी न किसी की जान तो जरूर जाएगी। देखिए फिल्म में कुछ नया नहीं है, पूरी तरह से Predectible फिल्म है। फिल्म में क्या होगा कैसे होगा ये Starting Seen से ही आप समक्ष जाएंगे। अगर आप फिल्म के नाम से ये समक्ष बैठे है की फिल्म Boxing से जुरी कहानी है तो इस धारना को आप मन से निकाल कर बाहर फेंक दे। क्योंकी Boxing तो बस एक मुखौटे की तरह काम करता है।

Boxing में चलने वाले मुक्के, प्यार मुहब्त की बाते

अगर सही माइने में कहे तो ये फिल्म सलमान खान की फिल्म ‘सुलतान’ की तरह है। जिसमें एक निकम्मा आशिक अपनी प्रेमीका के लिए नाम और इज्ज़त कमाता है। चलिए अगर इस सब को Ignore भी मार दे, तो भी फिल्म कहानी काफी प्रिडेक्टीबल है। जिसमें आप एक सीन को देखते ही दूसरे सीन में क्या होगा, कैसे होगा आप आराम से आंदाजा लगा लेंगे। फिल्म का फस्ट आवर तो फिर भी दमदार है। Boxing में चलने वाले मुक्के, प्यार मुहब्त की बाते सब कुछ दिल से आर-पार होंगे। लेकिन सैकेंड हाफ में आपके मूड का कचरा होना शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: Raj Kundra ने Kapil को बताया था पैसे ऐसे कमाते है, आज होगी कोर्ट में पेशी

यह भी पढ़ें: Naseeruddin Shah का जन्मदिन आज, कुछ ऐसी है अभिनेता की दिलचस्प जिंदगी

कैसी लगी फिल्म Toofaan ?

0% interest, 0% twist, 0% excitement, 0% Surprise देख कर आपका दिल करेगा फिल्म पूरा ना देखें। फिल्म में इतना फैमली ड्रामा आ जाता है की Boxing कही पिछे छुट जाती है। और Boxer Aziz Ali सिर्फ Lover Boy पापा बन के रह जाते है। इस फिल्म को देखने के बाद आप महशूश करेंगे ये सब तो पहले ही देख चुके है फिर चाहे वह फिल्मब ‘गुलाम’ हो, ‘सुल्तान’ हो, या ‘मुक्काबाज’ हो। इस फिल्म की अच्छाई केवल एक है, जितने भी कास्टिंग डायरेक्टर चुने गए है वह सब बहुत ही खास और जबरदशत है।
अपको बता दें, फरहान अख्तर ने मानो तुफान को पहन लिया है। उनके चलने का स्टाईल, चोरी छुपके से प्यार वाली स्माईल या बॉक्सिंग गलब्स के पिछे से दुशमन के चेहरे पर पड़ने वाला पंच।

फिल्म की अच्छाई

सब कुछ इमप्रेसीव है। परेश रावल ‘The Talent Factory’ उन्हें जीता टाइम मिला उतने में पूरी फिल्म को अपने इशारों में नचाते दिखेगें। इस फिल्म से अगर आप खुद को दूर नहीं रख पाते है तो सबसे बड़ा रीजन है मृणाल ठाकुर। जो इस फिल्म के लिए सबसे बड़ी सरप्राइज है। टैलेंट प्लस खूबसूरती का डेडली कौम्बीनेशन है। इस फिल्म में आपको टैलेंट बहुत ज्यादा दिखेगा लेकिन करने के लिए इनके पास कुछ ज्यादा नहीं है।

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles