राहुल आजकल क्यों कर रहे हैं मंदिर दर्शन, शशि थरूर ने किया खुलासा

नई दिल्ली: देश में इन दिनों सियासी खेल चल रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी इन दिनों कई मंदिरों के दर्शन करते दिखाई दे रहे हैं. इनता ही नहीं राहुल ने खुद को जनेऊधारी हिन्दू और शिवभक्त तक बता दिया है. मगर राहुल गाँधी के इस कदम ने भारतीय जनता पार्टी को उन पर हमला करने के लिए एक हथियार दे दिया है. सभी लोग कांग्रेस के अचानक पैदा हुए इस मंदिर प्रेम के बारे में जानना चाहते हैं. इस पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर ने विस्तार में बताया है.

यहाँ थरूर ने कहा कि लंबे समय से हमें लगता रहा है कि सार्वजनिक तौर पर अपनी निजी भावनाओं को व्यक्त क्यों करें, हम अपनी आस्था को फॉलो करते हैं लेकिन कभी उसे सार्वजनिक तौर पर प्रदर्शित करने के लिए बाध्य नहीं हुए. ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस नेहरू के धर्मनिरपेक्ष सिद्धांत वाली पार्टी है जिसकी जड़े स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन से जुड़ी हैं. वहीं उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के विवेक का भाजपा ने इस्तेमाल किया और उसे सच्चे हिंदू और ईश्वरीय धर्मनिरपेक्षतावादी की लड़ाई में बदल दिया.

इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने कहा कि एक देश जिसमें धार्मिकता गहरी है. अगर बहस को उस तरह से फ्रेम किया जाए तो धर्मनिरपेक्षतावादी हमेशा हार जाता है. इसलिए हमने निर्णय लिया कि यही समय है जब हमें अपनी आस्था को दिखाना होगा. वहीं चुनावी दौरों के दौरान राहुल के मंदिर दर्शन का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि इसे स्वार्थी अवसरवादी के तौर पर देखना गलत है. उन्होंने दावा किया कि राहुल जब खुद को शिव भक्त बताते हैं तो उन्हें अच्छी तरह से पता होता है कि वह क्या कह रहे हैं.

Related Articles