IPL
IPL

आखिर क्यों ज़रूरी है Covid टीकाकरण, कितनी होगी प्रभावशाली

वैज्ञानिकों की माने तो महज़ कोविड वैक्सीन ही कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पर्याप्त नहीं है। मास्क लगाना, साफ सफाई रखना, और दूरी बनाये रखना भी ज़रूरी है। कोविड वैक्सीन एक समय अंतराल के बाद ही अपना असर दिखाना शुरू करती है।

नई दिल्ली: दुनिया भर में कोरोना (Corona) ने आतंक मचा रखा है। जिसके चलते लोगों में बेहद डर का माहौल छाया हुआ है। वहीँ दूसरी ओर हर तरफ टीकाकरण (Vaccination) का काम बहुत तेजी से चल रहा है। भारत (India) में 8.31 करोड़ से ज़्यादा टीके अब तक लगाए जा चुके हैं। ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि क्या यह टीका लड़ने में प्रभावशाली है? और अगर है तो कब तक यह अपना प्रभाव दिखाएगा।

कितना प्रभावी है कोरोना का टीकाकरण

कोरोना वायरस (Corona Virus) हमारे शरीर में जाते ही हमारी रोग प्रतिरोधक छमता को घटा देता है। वैक्सीन (Vaccine) ठीक उल्टा काम करती है वह हमारे रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ा देती है और कुछ दिनों बाद हमारे शरीर में एंटीबॉडी विकसित कर देता है और हमारे शरीर को कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करता है।

अमेरिकी कंपनी ने चार हजार स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण के बाद प्रभावों का अध्ययन किया है। जिसमें पाया गया कि फाइजर-बायोएनटेक व मॉडर्ना की वैक्सीन 80 प्रतिशत तक प्रभावी रहीं, जबकि दूसरे डोज़ के बाद उनका प्रभाव 90 प्रतिशत तक हो जाता है। वहीं भारत की सीरम कंपनी का कहना है कि कोविशील्ड वैक्सीन को अगर दो-तीन महीने के गैप में दिया जाए तो वह 90 प्रतिशत तक प्रभावशाली साबित होती है। भारत की कोवैक्सीन को भी 90 प्रतिशत तक असरदार माना जा रहा है।

कितना ज़रूरी है कोविड का टीकाकरण

आज कोविड की चपेट में हर कोई आ रहा है चाहे वह ज्यादा उम्र वाला हो या युवा। सभी को कोविड का टीकाकरण ज़रूर करवाना चाहिए। लेकिन मौज़ूदा वक़्त में वैक्सीन की खपत को देखते हुए इसे फिलहाल 45 साल से ज़्यादा की उम्र वालों के लिए इज़ाज़त दी गई है। 45 साल से ज़्यादा की उम्र वाले लोगों के अधिक चान्सेस है इसकी चपेट में आने के जिसके कारण उन सब के लिए टीकाकरण को अनिवार्य कर दिया गया है।

सावधान और सतर्क रहें

वैज्ञानिकों की माने तो महज़ कोविड वैक्सीन ही कोविड से लड़ने के लिए पर्याप्त नहीं है बल्कि मास्क लगाना, साफ सफाई रखना और सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखना भी ज़रूरी है। कोविड वैक्सीन एक समय अंतराल के बाद ही अपना असर दिखाना शुरू करती है।

कितने दिनों तक टीका रहता है असरदार

Pfizer BioNtech’s की वैक्सीन के तीसरे ट्रायल में पाया था कि यह छह माह तक लोगों को कोरोना वायरस से बचाने में कामयाब हो सकती है। अन्य शोधकर्ताओं की मानें तो कुछ वैक्सीन्स का असर छह महीने से सालभर तक हो सकता है।

ये भी पढ़ें: World Health Day 2021: कोरोना की लड़ाई में PM मोदी ने किया Health Workers को सैल्यूट

ये खबर हमारे इंटर्न कार्तिकेय शर्मा ने लिखा है।

Related Articles

Back to top button