पाकिस्तान के लोग क्यों बदलना चाहते है राजधानी का नाम? जानें वो बात जो अब तक किसी ने नहीं सोची

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) की राजधानी इस्लामाबाद (Capital Islamabad) का नाम बदलने का सोचा जा रहा है। नाम बदलने के लिए एक याचिका ऑनलाइन डाली गई है। राजधानी (Capital) का नाम बदलने की मुहीम को बांग्लादेश के रहने वाले अयहम अबरार ने चलाया है। उनका कहना है कि अब इस्लामाबाद का नाम बदलकर ‘इस्लामागुड’ नाम होना चाहिए। इसके नाम को बदलने के लिए अब तक कई लोगो ने सहमति जताई है। आखिर यहां के लोग क्यों इस्लामाबाद का नाम बदलने की सोच रहे है?

क्यों बदलना चाहते है नाम

अयहम अबरार ने Change.org में इसके बारे में लिखा है कि क्यों बदलना चाहते है राजधानी का नाम, उन्होंने लिखा है कि इस्लाम अच्छा है, पाकिस्तान इस्लाम से प्यार करता है तो हमारी मुल्क की राजधानी का नाम इस्लामबैद (IslamaBAD) क्यों? बांग्लादेश की तरफ से प्यार। इसलिए इसका नाम बदलकर इस्लामागुड़ होना चाहिए। अबरार की इस सोच और आवाज उठाने के बाद अब तक 300 लोगों ने सहमति दी है।

ये भी पढ़ें : दिल्ली सरकार ने लिया बड़ा फैसला, सभी मंत्री बिना पेट्रोल-डीजल के चलाएंगे कार

यूजर्स ने दिया एक और नाम

अबरार की इस ऑनलाइन याचिका पर 309 लोगों ने हस्ताक्षर भी किये हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के पास भी इस याचिका को भेजा गया है। जबसे यह आवाज उठी है तबसे ट्विटर पर बहुत से लोग अपनी प्रतिक्रिया दें रहे है। एक यूजर ने लिखा, ‘यह इस्लाम-बैड नहीं, इस्लाम-आबाद है।’ इसके अलावा किसी ने लिखा है कि इस्लामाबाद वास्तव में इस्लाम का शहर है। इसमें दो उर्दू शब्द हैं- इस्लाम और आबाद। आबाद को स्थानों के नाम पर जोड़ा जाता है। भारत में अधिकतर शहरों के नामों में आबाद शब्द जुड़ा होता है।

ये भी पढ़ें : अनिल विज का महबूबा मुफ्ती पर हमला, कोई भी ताकत 370 को नहीं ला सकती वापस

Related Articles

Back to top button