स्लीपर को क्यों कहते हैं `हवाई चप्पल`, जानें इसकी वजह

एयरप्लेन हवा में उड़ता है इसलिए उसे हवाई जहाज कहते हैं, लेकिन कभी आपने सोचा है कि पैरों में पहनने वाली स्लीपर को हवाई चप्पल क्यों कहते हैं. आज हम इसके पीछे की वजह बताने जा रहे है

नई दिल्ली. हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत सी चीजों का इस्तेमाल करते हैं, जिनका नाम हम जानते हैं लेकिन ये नहीं जानते कि इसका नाम इस तरह क्यों रखा गया है. जैसे पैरों में पहनी जाने वाली स्लीपर यानी हवाई चप्पल को हम रोजाना पहनते हैं, लेकिन आपने कभी सोचा है इसका ये नाम क्यों पड़ा. जबकि ये तो हवा में उड़ती भी नहीं है. इसके पीछे कई कहानियां हैं.

क्यों कहते हैं ‘हवाई चप्पल’?

कई इतिहासकारों के मुताबिक अमेरिका में ‘हवाई’ नाम का एक आईलैंड है. इस आईलैंड पर एक खास किस्म का पेड़ पाया जाता है. इस पेड़ को ‘टी’ कहकर बुलाया जाता है. इसी पेड़ से एक खास किस्म का रबरनुमा फैब्रिक बनता है, जिससे चप्पलें बनाई जाती हैं. उन्हीं को ‘हवाई चप्पल’ कहते हैं. दूसरे शब्दों में कहें तो जो चप्पल अमेरिकी आईलैंड हवाई के पेड़ की फैब्रिक से बनाई गई है, उन्हें हवाई चप्पल कहते हैं. हालांकि, इनका डिजाइन हवाई चप्पल कही जाने वाली चप्पलों से बेहद अलग था.

एक और है प्रसिद्ध कहानी

हवाई चप्पल के नाम के पीछे एक और कहानी है, जो बहुत फेमस है. दरअसल, ब्राजील में फुटवियर बनाने की एक बहुत बड़ी कंपनी है, जिसका नाम है ‘हवाइनाज’. हवाइनाज ने साल 1962 में रबर की चप्पलें बनानी शुरू की थीं. वहां इन चप्पलों को फ्लिप-फ्लॉप कहा जाता है. ये चप्पलें सफेद और नीले रंग की थी, जो हवाई चप्पलों का सबसे पॉपुलर और कॉमन डिजाइन है. हवाइनाज ने अपने इन नीले और सफेद रंग की चप्पलों की सप्लाई पूरी दुनिया में की. इसके बाद ये हवाई चप्पल पूरी दुनिया में मशहूर हो गई.

भारत से जुड़ा हुआ है इतिहास

वैसे तो चप्पलों का इतिहास बहुत ही पुराना है. सभी देशों में इसके डिजाइन और इसके इतिहास से जुड़े कई फेमस और रोचक किस्से हैं. अगर बात भारत की करें तो, भारत में हवाई चप्पल को घर-घर तक पहुंचाने का क्रेडिट बाटा कंपनी को जाता है. जो हवाइनाज से कई साल पहले ही इन्हें लॉन्च कर चुका था. गौरतलब है कि बाटा कंपनी आज फुटवियर बनाने वाली टॉप कंपनियों में शुमार है.

 

यह भी पढ़ें- हैरान कर देने वाली खबर, सुहागरात खत्म होते ही दुल्हन का उजड़ गया सुहाग, जानें पूरा मामला

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles