कलकत्ता पुलिस क्यों पहनती है सफ़ेद वर्दी, जानिए इसके पीछे का रहस्य

ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान ही सन 1845 में कलकत्ता पुलिस का गठन किया गया था और उसी वक़्त उनकी वर्दी का रंग सफ़ेद चुना गया।

नई दिल्ली: अगर आप देश के किसी भी राज्य या शहर जाएंगे तो आपको अपने देश की पुलिस की वर्दी का रंग खाकी ही मिलेगा लेकिन क्या आपको पता है कि देश का एक राज्य ऐसा भी है जहाँ की पुलिस की वर्दी का रंग सफ़ेद होता है। जी हाँ हम बात कर रहे है पश्चिम बंगाल पुलिस की, क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर क्यों बंगाल पुलिस की वर्दी का रंग सफ़ेद है।

क्या पश्चिम बंगाल पुलिस की सफ़ेद वर्दी का कारण आपको पता है। इसके पीछे का रहस्य हम आपको बताएंगे दरअसल इसके पीछे का इतिहास जानने के लिए आपको इतिहास के पन्नो को पलटने की ज़रुरत है क्योंकि जब कोलकाता में ब्रिटिशर्स थे तब ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान ही सन 1845 में कलकत्ता पुलिस का गठन किया गया था और उसी वक़्त उनकी वर्दी का रंग सफ़ेद चुना गया इसके पीछे एक बड़ी और खास वजह है।

बता दे कि पश्चिम बंगाल समुद्र के किनारे बसा एक राज्य है जहाँ पूरे साल गर्मी और नमी का मौसम रहता है और यही कारण है कि अंग्रेज़ो ने वैज्ञानिक नजरिये से इस जगह की पुलिस की वर्दी का रंग सफ़ेद चुना क्योकि सफ़ेद रंग सूरज की किरणों को रिफ्लेक्ट करता है। ताकि धूप में खड़ी पुलिस को गर्मी का कम एहसास हो सके। लेकिन यह सफ़ेद वर्दी आपको सिर्फ कलकत्ता में ही देखने को मिलेगी जबकि बंगाल के बाकी शहरो में खाकी वर्दी ही पहनी जाती है।

यह भी पढ़े: Assembly Election 2021: पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान

Related Articles