भारत में क्यों बढ़ी बेरोजगारी? नहीं है आपको जानकरी, पूर्व प्रधानमंत्री ने बताई ये बड़ी वजह

नई दिल्ली: देश का हर युवा बेरोजगारी (Unemployment) का मार झेल रहा है, हर युवा वर्ग के लोगो को सरकार से नौकरी की उम्मीद है। लेकिन क्या आपको अब तक पता चला आखिर क्यों देश में बेरोजगारी बढ़ रही है? इसके जवाब अलग-अलग प्रकार के लोग अनेको वजह बताते है। वहीं बेरोजगारी (Unemployment) को लेकर देश के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने मंगलवार को मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए वर्तमान हालत की वजह बताई है। इसके अलावा उन्होंने एक बार फिर से नोटबंदी के फैसले को गलत बताया।

महंगाई की बताई वजह

केरल में कांग्रेस पार्टी से जुड़े थिंक टैंक राजीव गांधी डिवेलपमेंट स्टडीज के एक वर्चुअल सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा है कि भाजपा सरकार हमेशा बिना सोचे-समझे फैसले लेते रहती है, इस वजह से देश में बेरोजगारी की दर बढ़ती जा रही है और असंगठित इलाके खंडहर में तब्दील हो गया है। इसके आगे उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार राज्यों के साथ नियमित तौर पर सलाह मशविरा नहीं करती है। सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा किये अस्थायी उपायों से कर्ज संकट मंडरा रहा है। इस कारण छोटे और मंझोले उद्योग वाले सेक्टर प्रभावित हो सकते हैं। हम इन हालातो को अनदेखा नहीं कर सकते हैं।’

ये भी पढ़ें : इस दल के साथ गठबंधन कर मुश्किल में फंसी कांग्रेस, पार्टी नेताओं के साथ बीजेपी ने भी बोला हमला

केरल पर भी पड़ा असर

पूर्व पीएम ने कहा, ”’बेरोजगारी तेजी से बढ़ रही है और असंगठित क्षेत्र तबाह हो चुका है। इस संकट कारण 2016 में बिना सोचे समझे लिए गए नोटबंदी के फैसले की वजह से है।” कोरोना की वजह से आर्थिक समस्या तेजी से बढ़ी है। पिछले दो-तीन साल में वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती कोविड-19 महामारी की वजह से बढ़ गई है, जिसका केरल पर भी असर पड़ा है। डिजिटल माध्यमों के उपयोग बढ़ने से आईटी क्षेत्र अपनी रफ्तार कायम रख सकता है, लेकिन पर्यटन क्षेत्र बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। केरल में महामारी ने पर्यटन को काफी प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य पर फोकस करने की वजह से केरल के लोग देश और दुनिया के सभी हिस्सों में नौकरी पाने में सक्षम हुए हैं।

ये भी पढ़ें : पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर पहली बार मोदी सरकार बैकफुट पर

Related Articles