लोगों को देखकर डर गया Google का Wi-Fi

CityWiFiबरेली। उत्तर रेलवे (एनआर) स्टेशनों पर वाई-फाई का ख्वाब मुश्किल हो गया है। गूगल की सर्वे टीम ने स्टेशनों पर यात्री संख्या अधिक होने के चलते हाथ खड़े कर दिए हैं। इसके चलते बरेली, मुरादाबाद, लखनऊ, दिल्ली, गाजियाबाद, देहरादून, हरिद्वार, चंडीगढ़, फिरोजपुर, अमृतसर, अंबाला और सहारनपुर आदि स्टेशनों पर जून में वाई-फाई शुरू नहीं हो पाएगा। भारतीय रेलवे ने देश के 400 स्टेशनों को वाई-फाई करने का एलान किया था। इसके लिए गूगल से करार भी हो चुका है।

ये भी पढ़ें : मार्च से लखनऊ का चारबाग रेलवे स्टेशन भी होगा Wi-Fi

नए साल में स्टेशनों से सफर करने वालों को वाई-फाई मिले, इसके लिए पिछले दिनों भारत आए गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई का भारत सरकार के साथ समझौता हुआ था। सुंदर पिचाई अमेरिका लौट गए, लेकिन उनकी टीम भारत सरकार के उपक्रम रेल टेल के साथ स्टेशनों का सर्वे कर रही है। टीम ने उत्तर रेलवे के बरेली, मुरादाबाद, देहरादून, लखनऊ, दिल्ली, अंबाला, चंडीगढ़ आदि स्टेशनों का सर्वे किया, लेकिन यहां अपेक्षा से अधिक यात्रियों की भीड़ मिली। ज्यादा भीड़ के चलते गूगल का वाई-फाई फेल होना तय है।

ये भी पढ़ें : चाईनीज एयरलाइन्स में मिलेगी वाई-फाई की सुविधा !

गूगल का वाई-फाई जर्मनी, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया आदि देशों के स्टेशनों के लिहाज से तैयार किया गया है। यहां यात्रियों की संख्या हजार से दो हजार तक रहती है, मगर भारत के ज्यादातर बड़े रेलवे स्टेशनों पर 24 घंटे ही हजारों की भीड़ रहती है। 125 मिनट मिलेगा मुफ्त वाई-फाई : करार के मुताबिक स्टेशनों पर यात्रियों को 25 मिनट वाई-फाई मुफ्त मिलेगा, लेकिन इसके बाद यात्रियों को भुगतान करना पड़ेगा। यात्रियों को वाई-फाई के लिए किस दर पर भुगतान करना है। यह तय नहीं हुआ है।गूगल टीम ने रेल टेल के साथ स्टेशनों पर वाई-फाई का सर्वे शुरू किया है। अधिक भीड़ वाले स्टेशनों पर वाई फाई अपग्रेड किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button