हम जनहित के मुद्दों पर चुनाव लड़ें, जनता का भरपूर समर्थन और प्यार मिला: तेजस्वी

जनता ने अपना फैसला सुनाया तो आयोग ने नतीजा।” उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति के बाद वह धन्यवाद यात्रा पर निकलेंगे।

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) एवं बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने इस बार के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर राजद प्रत्याशियों को हराने के लिए प्रशासनिक तंत्र के दुरुपयोग और असीमित संसाधान के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके अनैतिक प्रयासों के बावजूद वह केवल लड़े नहीं बल्कि जीते भी।

बिहार विधानसभा चुनाव में बड़ी पार्टी बनने के बाद भी सरकार बनाने के जादूई आंकड़े से दूर रहे राजद की हार के कारणों को जानने के लिए सोमवार को राजद कार्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के निर्देश पर समीक्षा बैठक बुलाई गई। बैठक में विधानसभा चुनाव के उम्मीदवार, पार्टी के सभी जिलाध्यक्ष, सभी जिले के प्रधान महासचिव के अलावा पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता शामिल हुए।

यादव ने बैठक में कहा, “एक और प्रधानमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक तंत्र के तमाम प्रयासों, दुष्प्रचार और असीमित संसाधनों के साथ हमें हराने की भरसक अनैतिक कोशिशें की लेकिन जनता ने बदलाव के लिए वोट किया। हम मज़बूती से बेरोजगारों, युवाओं, मजदूरों, किसानों और गरीबों के साथ खड़े हैं।”

हम जनहित के मुद्दों पर चुनाव लड़े: तेजस्वी

राजद नेता ने कहा, “हम जनहित के मुद्दों पर चुनाव लड़ें और जनता का भरपूर समर्थन और प्यार हमें मिला। हम केवल मजबूती से चुनाव लड़े ही नहीं बल्कि चुनाव जीते भी। जनता ने अपना फैसला सुनाया तो आयोग ने नतीजा।” उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति के बाद वह धन्यवाद यात्रा पर निकलेंगे।

बैठक में अपने बड़े भाई एवं विधायक तेजप्रताप यादव के साथ पहुंचे तेजस्वी प्रसाद यादव ने आज अपने संबोधन में कड़े लहजे में उन नेताओं को चेतावनी दी, जिन्होंने इस चुनाव में भितरघात किया है। समीक्षा बैठक में राजद नेता एवं पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, पूर्व मंत्री वृषिण पटेल एवं श्याम रजक समेत पार्टी के कई दिग्गज नेता उपस्थित थे।

यह भी पढ़े:

Related Articles

Back to top button