विधवा आश्रय गृह ‘कृष्ण कुटीर’ का लोगो डिजाइन प्रतियोगिता शुरू

नई दिल्ली। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने विधवाओं के लिए बनाए गए ‘कृष्ण कुटीर’ नाम के आश्रय गृह के लिए लोगो डिजाइन प्रतियोगिता (कांटेस्ट) शुरू की है। यह कांटेस्ट एक अगस्त बुधवार से शुरू हो गया है, इसमें भाग लेने की अंतिम तारीख 15 अगस्त होगी। इसमें भाग लेने के लिए आश्रय गृह के लोगो का डिजाइन करके अपनी एंट्री ‘क्रिएटिवकॉर्नर डॉट एमडब्ल्यूसीडी डॉट कॉम’ या ‘माई जीओवी’ पर भेजनी होंगी।

‘कृष्ण कुटीर’ आश्रय गृह उत्तर प्रदेश के वृन्दावन में है और 1000 बुजुर्ग विधवा महिलाओं को आश्रय देने की सुविधा इस आश्रय गृह में प्रदान की गई है। जल्द ही यह आश्रय गृह शुरू होने वाला है। यह अपने आप में देश का सबसे बड़ा आश्रय गृह होगा जिसमें एक हजार विधवा महिलाएं रह सकती हैं। इस आश्रय गृह का उद्देश्य विधवाओं के लिए सुरक्षित स्थान उपलब्ध कराना हैं। आश्रय गृह में विधवाओं को स्वास्थ्य सेवाएं, पौष्टिक भोजन, कानूनी व परामर्श सेवाएं भी प्रदान की जाएंगी।

आश्रय गृह का डिजाइन ‘हेल्पऐज इंडिया’ संस्था के परामर्श से तैयार किया गया है। इस आश्रय गृह में भूतल के साथ-साथ तीन तल हैं। आश्रय गृह में रैंप, लिफ्ट की सुविधा भी है। इसके अलावा बिजली, पानी के साथ-साथ अन्य सुविधाएं भी हैं ताकि वृद्ध व दिव्यांग विधवाओं को किसी भी तरह की परेशानी न हो।

Related Articles