पत्नि ने की ऐसी डिमांड, मुंबई से फोन कर पति बोला: तलाक-तलाक-तलाक

0

बाराबंकी: दहेज की मांग पूरी न होने पति ने पीटकर घर से भगा दिया। गुजारा भत्ता के लिए पीड़िता ने न्यायालय की शरण ली। इसकी जानकारी होने पर पति ने मुंबई से पत्नी को फोन कर तीन तलाक दे दिया।पीड़िता ने अपर पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई तो उन्होंने मामला महिला थाने के सुपुर्द कर मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।

कोतवाली नगर क्षेत्र निवासी एक युवती का निकाह नवंबर 2018 में महाराष्ट्र मुम्बई के थाना बाबासी निवासी युवक से विवाह हुआ था। विवाहिता ने गुरुवार को अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी आरएस गौतम से मिलकर आपबीती सुनाई। विवाहिता का आरोप है कि दहेज में दो लाख रुपये और एक मोबाइल की मांग पूरी न होने पर निकाह के दो माह बाद उसे पीटकर घर से भगा दिया और हत्या की धमकी दी थी। दो माह से मायके में रह रही पीड़िता ने गुजारा भत्ता के न्यायालय की शरण ली थी।

इस बात की जानकारी जब उसके पति को हुई तो उसने मुम्बई से ही फोन कर पत्नी को तीन तलाक दे दिया। एएसपी ने बताया कि पीड़िता का प्रार्थना पत्र महिला थानाध्यक्ष को देकर मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करेगी।

loading...
शेयर करें