विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को कोर्ट ने जमानत देने से किया इनकार

ब्रिटेन की राजधानी लंदन की एक अदालत ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की जमानत याचिका बुधवार को खारिज कर दी।

लंदन: ब्रिटेन की राजधानी लंदन (London) की एक अदालत ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे (Julian Assange) की जमानत याचिका बुधवार को खारिज कर दी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जज वेनेसा बैरेटसर (Vanessa Barretser) ने अपने फैसले में कहा, “यह मानने के पर्याप्त आधार हैं कि यदि जूलियन असांजे (49) को आज रिहा किया जाता है तो वह अदालत में आत्मसमर्पण करने और अपील की कार्यवाही का सामना करने में विफल होंगे।”

अदालत का फैसला आने के कुछ दिनों पहले जूलियन असांजे (Julian Assange) अमेरिका में अपने प्रत्यर्पण से बचने में सफल रहे हैं। उन्हें जासूसी कानून का उल्लंघन करने और सरकार के कंप्यूटरों को हैक करने की साजिश रचने के लिए आपराधिक आरोपों का सामना करना पड़ रहा है। असांजे वर्ष 2012 में जमानत मानदंडों को तोड़ने के आरोपों में लंदन के बेलमार्श जेल में बंद हैं।

ये भी पढ़ें : ‘Pt. Madhavrao Sapre की याद में उनकी प्रतिमा की जायेगी स्थापित’

वह उस वर्ष स्वीडन में अपने प्रर्त्यपण से बचने के लिए इक्वोडोर के लंदन स्थित दूतावास में प्रवेश कर गये थे। विकीलीक्स के प्रधान संपादक क्रिस्टिन हफ्नसन ने वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के बाहर कहा कि उनकी कानूनी रूप से जमानत से इनकार करने के फैसले पर अपील की जा रही है। लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास में सात वर्ष बिताने वाले 49 वर्षीय असांजे अमेरिका में 18 आरोपों का सामना कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button