क्या भारत से विदा होगी Ford, जानिए आखिर यह नौबत क्यों आई?

Ford India और महिंद्रा के ज्वाइंट वेंचर के औपचारिक तौर पर खत्म होने के बाद से ही भारत में फोर्ड इंडिया का ऑपरेशन बंद होने के कयास लगने लगे थे फोर्ड इंडिया फिलहाल मुश्किल दौर से गुजर रही है

नयी दिल्ली: पिछले कुछ समय से फोर्ड इंडिया ने EcoSport और Endeavour जैसे अपने एसयूवी के अलावा कोई गाड़ी लॉन्च नहीं की है, फिगो ऑटोमेटिक भी काफी देर से लॉन्च हो रही है, सेकेंड जेनरेशन फिगो भी काफी लेट है, इसके अलावा इसमें कोई खास फीचर नहीं है और न ही पावरट्रेन लगी है। Ford India और महिंद्रा के ज्वाइंट वेंचर के औपचारिक तौर पर खत्म होने के बाद से ही भारत में फोर्ड इंडिया का ऑपरेशन बंद होने के कयास लगने लगे थे फोर्ड इंडिया फिलहाल मुश्किल दौर से गुजर रही है और इस वक्त जो हालात हैं उनसे लग रहा है कि यह कंपनी भारत में अपना ऑपरेशन बंद भी कर सकती है।

 

फोर्ड के प्लांट में कम उत्पादन

भारत जैसे मार्केट में दाम और फीचर के बीच संतुलन बिठाने में फोर्ड इंडिया नाकाम रही है और फिगो ऑटोमैटिक अगले महीने लॉन्च हो सकती है लेकिन इस सेगमेंट में पहले से ही हुंडई i20, मारुति सुजुकी, बलेनो और फॉक्सवैगन पोलो मौजूद हैं

फोर्ड के मरिमलाई और साणंद में दो प्लांट हैं और दोनों अपनी क्षमता से कम उत्पादन कर रहे हैं, अब फोर्ड इंडिया का नया निवेश भी मुश्किल है क्योंकि फोर्ड दुनिया भर में अपने प्लांट बंद कर रही है या उनकी क्षमता घटा रही है, फिलहाल फोर्ड रेंजर रैप्टर लाइफस्टाइल गाड़ियों की लॉन्चिंग की भी कोई साफ तस्वीर नहीं दिख रही है।

क्या फोर्ड इंडिया का हश्र भी जनरल मोटर्स जैसा होगा ?

2015 में जनरल मोटर्स भारत में बनाई जाने वाली गाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन में शामिल किया था लेकिन कंपनी को भारत में अपना सेल्स ऑपरेशन बंद करना पड़ा था और वह भी तब, जब जनरल मोटर्स की तत्कालीन सीईओ मेरी बारा भारत में निवेश के लिए तैयार थीं अब फोर्ड इंडिया के पास लॉन्च करने के लिए न तो कोई प्रोडक्ट है और न ही इसमें नया निवेश हो रहा है

अब कंपनी की नई टेक्नोलॉजी पर आधारित कोई गाड़ी भी भारत में नहीं आ रही है और ऐसे में फोर्ड इंडिया का भविष्य भारत में अनिश्चित दिख रहा है फोर्ड इंडिया का भविष्य किसी दूसरी कंपनी से ज्वाइंट वेंचर पर ही टिका है और ऐसी खबरें हैं कि फोर्ड इंडिया कुछ दूसरी कंपनियों के साथ ज्वाइंट वेंचर के लिए बात कर रही है लेकिन इसका कोई नतीजा निकलता फिलहाल नहीं दिख रहा।

 

यह भी पढ़े:दिग्विजय के निशाने पर मोहन भागवत, RSS और तालिबान को बताया एक समान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles