यूपी में नहीं होंगे केरल जैसे हालात, एसडीआरएफ टीम को दी जा रही स्पेशल ट्रेनिंग

0
पानी में जाने से पूर्व ऑक्सीजन सिलेंडर लगाते एसडीआरएफ के डीप ड्राइवर

लखनऊ: केरल त्रासदी जैसी पुनरावृत्ति रोकने और राज्य में बाढ़ जैसे हालात से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश की एसडीआरएफ (राज्य आपदा मोचक बल) तैयार है। बुधवार को एसडीआरएफ की एक टुकड़ी को महानगर स्थिति 35 बटालियन के स्विमिंग पूल में प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान जवान पीठ पर ऑक्सीजन सिलेंडर बांधकर पानी में उतरे और वाटर कटर स्प्रैडर का उपयोग कर लोहे के एंगल आदि काटे। प्रशिक्षण के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक आर.के. विश्वकर्मा, कमांडेंट हेमंत कुटियाल ने जवानों को बचाव कार्य की बारीकियां सिखायी।

पानी के अंदर लोहे के पाइप को काटते जवान को देखते एडीजी आर.के. शर्मा, साथ में कमांडेंट हेमंत कुटयाल

क्वार्टर मास्टर पंकज सिंह ने बताया कि एसडीआरएफ की टीम को आधुनिक और मजबूत बनाने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिससे वह पलक झपके ही पानी के अंदर जाकर राहत व बचाव कार्य कर सकें। उन्होंने बताया कि एसडीआरएफ टीम को आधुनिक और मजबूत करने के लिए फ्रांस से अत्याधुनिक मशीनें और उपकरण मंगावाये गये हैं।

फ्रांसीसी मशीन- स्प्रैडर और कटर मशीन

60 मीटर गहरे पानी में मशीनों से कर सकेंगे कटिंग

श्री सिंह ने बताया कि पानी के अंदर बस-ट्रेन गिरने की स्थिति में इन आधुनिक मशीनों और उपकरणों से तुरंत गेट व खिड़की काटकर पीड़ितों को निकाला जा सकेगा। ये मशीन पानी के अंदर 60 मीटर तक काम करने में सक्षम हैं। इस दौरान राज्य आपदा मोचन बल के आत्मप्रकाश यादब, सुधीर तिवारी, विनय तोमर, धर्मेंद तिवारी, देबानन्द, महेंद्र नाथ आदि मौजूद रहे।

loading...
शेयर करें