IPL
IPL

क्या अब बच सकेगी लोगों की जान, सरकार ने ऑक्सीजन को लेकर लिया बड़ा फैसला

इन सभी राज्यों में अचानक कोरोना के मामले बढ़ने से अस्पतालों में बोझ बढ़ गया है और ऑक्सीजन की कमी होने लगी है। जिसको देखते हुए ये फैसला लिया गया है। 

नई दिल्ली: देश में ऑक्सीजन ( Oxygen ) की बढ़ती मांग को देखते हुए केंद्र सरकार ने 50 हजार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने का फैसला लिया है। इस संबंध में जल्दी ही टेंडर जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही कोरोना प्रभावित 12 राज्यों में ऑक्सीजन आपूर्ति की निगरानी करने के लिए मैपिंग प्रणाली की शुरुआत करने का भी फैसला लिया गया है।

एम्पावर्ड ग्रुप-2 की बैठक में लिया गया निर्णय

दरअसल देश में कोविड ( Covid-19 ) के इलाज के लिए आवश्यक चिकित्सा उपकरणों और ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा करने के लिए एम्पावर्ड ग्रुप-2 की बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में तीन महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है।

100 new hospitals to have their own oxygen plant under PM CARES Fund - 100  नए अस्पतालों में PM-CARES Fund से लगाए जाएंगे ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना संकट  के बीच सरकार का बड़ा फैसला

PM केयर्स फंड के तहत लगेगा ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र

कोरोना प्रभावित 12 राज्यों में ऑक्सीजन उत्पादन की स्थिति पर चर्चा की गई। साथ ही आयात के लिए एमईए के मिशनों द्वारा पहचाने जाने वाले संभावित स्रोतों का भी पता लगाया जाएगा। इस बैठक में देश के दूरदराज इलाकों में पीएम केयर्स फंड के तहत 100 अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगाने का भी फैसला लिया गया है।

12 राज्यों में ऑक्सीजन की मांग

इसके अलावा देश में कोरोना से ज़्यादा प्रभावित 12 राज्य है, जिसमें महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, यूपी, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान हैं। इन सभी राज्यों में अचानक कोरोना के मामले बढ़ने से अस्पतालों में बोझ बढ़ गया है और ऑक्सीजन की कमी होने लगी है। जिसको देखते हुए ये फैसला लिया गया है।

यह भी पढ़े: Corona Update: कोरोना से दहला देश, पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 2,17,353 नए मामले धड़ल्ले से बढ़े

Related Articles

Back to top button