नंबर गेम में हुए इस बदलाव से क्या भारत में सस्ता हो जाएगा क्रूड oil

नई दिल्ली : सऊदी अरब को पछाड़ अमेरिका अब भारत को सबसे ज़्यादा OILएक्सपोर्ट करने वाला दूसरा देश बन गया है। इसकी असल वजह ये है की अमेरिका में अब क्रूड OIL की डिमांड प्रोडक्शन से कम हो गई है। जिसकी वजह से आयल अवेलेबल है। इसी के साथ दूसरी वजह ओपेक डील है जिसमे मिडिल ईस्टर्न कन्ट्रीज को अपना प्रोडक्शन घटना पड़ा है।

ये भी पढ़ें : बढ़ते कोविड-19 संक्रमण पर पीएम मोदी गंभीर, इस दिन करेंगे मुख्यमंत्रियों संग बैठक

इराक अभी भी भारत का टॉप आयल सप्लायर है

वर्ल्ड के टॉप आयल प्रोडूसर्स में से एक , अमेरिका से भारत का तेल आयात फरवरी 2021 में बढ़कर  48 प्रतिशत के करीब हो गया है । दूसरी ओर, जनवरी 2021 में आयल एक्सपोर्ट के मामले में दूसरे नंबर पर रहे सऊदी अरब से भारत का आयात 42 प्रतिशत तक घट गया है। नतीजतन, सऊदी अरब, जो 2006 से लगातार भारत के टॉप आयल प्रोवाइडर्स में से एक रहा है , आज चौथी पोजीशन पर लुढ़क गया है।

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा क्रूड आयल कंस्यूमर हैं

 

आंकड़ों के अनुसार, एक्सपोर्ट में 23 % की गिरावट के बावजूद इराक अब भी इंडिया का टॉप आयल एक्सपोर्टर बना हुआ है। इराकी तेल के एक्सपोर्ट में हुई ये गिरावट ओपेक प्रोडक्शन डील की वजह से हुई है जिसमे सभी ओपेक देशों को अपना एक्सपोर्ट 20 % तक काम करने को कहा गया था।

ये भी पढ़ें : Birthday Special : Yo Yo Honey Singh इतनी आसानी से नहीं बन गए पॉप सिंगर, करनी पड़ी है कड़ी तपस्या

Related Articles