लम्बे अरसे से लगे बैन के हटते ही South Korea ने लांच किया स्पेस पावर स्कीम

सियोल : देश के मिसाइल उत्पादन कार्यक्रम पर लगे प्रतिबंध हटाने के लिए इस साल की शुरुआत में अमेरिका की मंजूरी के बाद, South Korea ने अपनी सेना के लिए अंतरिक्ष क्षमताओं को और विकसित करने के लिए एक टास्क फोर्स शुरू की है।

South Korea के इस प्रोजेक्ट को मिनिस्ट्री की मंज़ूरी मिली

इस कड़ी में रक्षा अधिग्रहण कार्यक्रम प्रशासन के उप प्रमुख,ने घोषणा करते हुए कहा की राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय, संयुक्त चीफ ऑफ स्टाफ, रक्षा विकास एजेंसी और अन्य सरकारी संगठनों के प्रमुख एक टीम बनाकर इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व करेंगे।

इस कड़ी में डीएपीए ने एक बयान के मुताबिक “कार्यबल संबंधित संगठनों और उद्योगों के सहयोग से संबंधित नियमों, प्रौद्योगिकियों, उद्योगों, सुविधाओं और बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए टीम एक मास्टर प्लान तैयार करेगी। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें एक हफ्ते पहले,एजेंसी ने सैन्य उपग्रहों के लिए 13 अरब डॉलर का निवेश किया था, जिसको डिफेन्स मिनिस्ट्री ने मंज़ूरी दी थी। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक दक्षिण कोरिया अब अधिक शक्तिशाली रॉकेट इंजन विकसित करने और वाणिज्यिक अंतरिक्ष क्षेत्र में पकड़ बनाने की स्थिति में है।

यह भी पढ़ें : कोरोना से न बिगड़े हालात, इसलिए राज्य सरकार ने गणेश उत्सव पर जारी की नई गाइडलाइन

 

Related Articles