कृषि कानून लागू होते ही 40 फीसदी आबादी का कारोबार सिर्फ दो लोगों के हाथों में चला जाएगा- राहुल गांधी

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता (Congress leader) राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने शुक्रवार को कहा कि देश के लगभग 40 प्रतिशत लोग कृषि से जुड़े व्यवसाय में हैं, जिनपर मोदी सरकार का नया कृषि कानून प्रतिकूल प्रभाव डालेगा। यहां पदमपुरा में एक रैली में भाजपा (BJP) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार (central government) पर हमला करते हुए, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि नए कृषि कानूनों (New agricultural laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन एक ” महा आंदोलन” (farmer protest) हैं। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों से मध्यम वर्ग भी प्रभावित होगा।

मंडियों को ख़त्म करके किसानों के अधिकारों को छीन लेगा यह कानून

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि कृषि (Agriculture) देश का सबसे बड़ा व्यवसाय हैं, इसमें किसानों, छोटे दुकानदारों और मजदूरों सहित अधिकांश लोग शामिल होते हैं। उन्होंने कहा कि यह भारत माता का व्यवसाय है और भारत की 40 प्रतिशत आबादी इस व्यवसाय का हिस्सा है। ये 40 प्रतिशत लोग राष्ट्र का भरण पोषण करते हैं।

गांधी ने कहा कि 40 फीसदी लोगों का यह कारोबार 40 लाख करोड़ रुपये का है। यह कारोबार करोड़ों व्यापारियों, विक्रेताओं, किसानों और श्रमिकों का है और नए कृषि कानूनों के कार्यान्वयन पर यह कारोबार सिर्फ दो लोगों के हाथों में जाएगा।

इसे भी पढ़े: भारत के सामने चीन ने टेके घुटने, 48 घंटे में LAC खाली करने का किया ऐलान

गांधी ने कहा कि आंदोलनकारी किसान “अंधेरे में रोशनी” दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहला कानून मंडियों को मार देगा, दूसरा कानून उपज के विशाल भंडार की अनुमति देगा और तीसरा कानून किसानों को अन्याय के खिलाफ अदालत में जाने का अधिकार छीन लेगा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह इन कानूनों का मकसद है। मेरे शब्दों को याद रख लीजिये, जिस दिन ये कानून लागू हो जाएंगे, 40 फीसदी आबादी का कारोबार दो लोगों के हाथों में जाएग।

Related Articles

Back to top button