आजम खां की रिहाई को लेकर महिला ने राष्ट्रपति को लिखा खून से पत्र, पढ़कर आप भी रह जाएंगे दंग

नेहा राज ने राष्ट्रपति को अपने खून से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की

सपा के कद्दावर नेता इन दिनों जेल में बंद है. वहीं आजम खां को भगवान स्वरुप मान उनकी पूजा करने वाली रामपुर की एक महिला नेहा राज ने राष्ट्रपति को अपने खून से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की है. 26 मई 2019 से सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर के सांसद आजम खान को रिहा किए जाने की मांग उठा दी गई है. कहा जा रहा है कि आजम खान के साथ इंसाफ नहीं किया गया. ऐसे में अब नेहा ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग की है.

गरीब मजदूर के हाथ में दी कलम

पत्र में उन्होंने लिखा है कि मेरा नाम नेहा राज है और मैं दलित समाज से हूं. मैंने 25 मई 2021 को देश के राष्ट्रपति महोदय को एक पत्र अपने खून से लिखा था. उसमें मैंने आजम खान की रिहाई की मांग की थी. आज़म खान पिछले 2 साल से जेल में बंद हैं. नेहा राज ने कहा आजम खान की खता यह है कि उन्होंने दलित गरीब मजदूर के हाथ में कलम देने का काम किया. लेकिन अब वे उसकी सजा काट रहे हैं.

आजम खां पर जुल्म ज्यादती नहीं देख सकती

नेहा राज ने कहा मैं आजम खान को भगवान की तरह पूजती हूं. मैं आजम खान पर जुल्म ज्यादती होते हुए नहीं देख सकती. इसलिए मैंने राष्ट्रपति को अपने खून से पत्र लिखा है. राष्ट्रपति आजम खान के साथ इंसाफ करें या मुझे इच्छा मृत्यु की अनुमति दें. हम ऐसे देश में नहीं रहना चाहते हैं जिसमें लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ हो रहा है. मौजूदा सरकार लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ कर रही है.

 

यह भी पढ़ें- अखिलेश ने किया पार्टी कार्यालय में ‘मंथन’, नेताओं कार्यकर्ताओं को दिया ‘जीत का मंत्र’, दिया बड़ा बयान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles