रिसर्च : तो सबसे ज्यादा इस चीज की फ़िक्र होती है महिलाओं को

नई दिल्ली। आज के दौर में भी औरतों को लेकर तरह तरह की धारणा हमारे समाज में रहती है। आज लोग औरतों को हमेशा बताने की कोशिश करते रहते हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। औरतों के बारे में ये भी धारणा बना लेते हैं कि वो क्या सोचती हैं क्या नहीं सोचती हैं। उसमे से एक ये कि औरतें हमेशा अपने वजन को लेकर चिंतित रहती हैं। लेकिन हालिया रिसर्च ने इन बातों को नकार दिया है।

रिसर्च

रिसर्च के मुताबिक़ मुताबिक 35 साल से ज्यादा उम्र की 80 प्रतिशत महिलाएं अपने वजन के बारे में नहीं बल्कि अपने दांतों और मसूड़ों के बारे चिंतित रहती हैं। पुरुषों की तुलना में उन्हें अपने दांतों की सेहत की चिंता ज्यादा होती है। इस सर्वे के मुताबिक साल में एक बार लगभग 78 प्रतिशत महिलाएं और 65 प्रतिशत पुरुष ही डेंटिस्ट के पास जाते हैं।

लेकिन हालिया रिसर्च ये भी कहता है कि इतनी चिंता और देखभाल के बावजूद 35 प्रतिशत महिलाएं ही अपने मसूड़ों और दांतों को सम्भाल कर रख पाती हैं। शोध के मुताबिक गर्भधारण करने से पहले वजन नियंत्रित करना, बच्चे की जिंदगी के लिए जरूरी है। जिन महिलाओं का वजन ज्यादा होता है, उनके बच्चे के जन्म की आशंका भी समय से पहले होती है।

अपने पांच साल के सर्वे में वैज्ञानिकों ने आंकड़ों के आधार पर बॉडी शेप इंडेक्स की उपयोगिता को मापने की कोशिश की। इसकी मदद से सहमे से पहले होने वाली मौतों का अंदाजा लगाया जा सकता है। साथ ही दिनचर्या को सही सुव्यवस्थित करने की सलाह दी जा सकती है।

Related Articles