महज कांस्टेबल बनने लायक है हरमनप्रीत की योग्यता, पंजाब सरकार ने छीना DSP पद

चंडीगढ़। फर्जी डिग्री के चलते विवादों में आई भारत की महिला टी 20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ी। पंजाब सरकार ने उनकी डिग्री की जांच के बाद इसे फर्जी पाते हुए उनसे डीएसपी की रैंक छीन ली गई। अब उन्हें विभाग में कॉन्स्टेबल की नौकरी मिल सकती है।

हरमनप्रीत कौर

समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक पंजाब सरकार ने हरमनप्रीत को लिखा है। आपकी एजूकेशन को अब 12वीं कक्षा तक ही माना जा सकता है लिहाजा पंजाब पुलिस के नियमानुसार आपको कांस्टेबल के तौर पर ही रखा जा सकता है।

ज्ञात हो कि पंजाब के मोगा की रहने वाली हरमनप्रीत कौर को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से एक मार्च को पंजाब पुलिस में डीएसपी बनाया गया था।

हरमनप्रीत कौर के ग्रेजुएशन के सर्टिफिकेट के मामले में पंजाब सरकार ने रेलवे से जानकारी मांगी थी। वहां से रिपोर्ट मिलने के बाद पंजाब सरकार ने कार्रवाई की। इस मामले में पंजाब पुलिस ने यूनिवर्सिटी के विजिलेंस विभाग से गोपनीय जांच कराई थी। जांच में पता चला कि चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में हरमनप्रीत के ग्रेजुएशन का कोई रिकॉर्ड ही नहीं है।

Related Articles

Back to top button