महिलाओं ने पेड़ों को बचाने के लिए मंत्री के साथ की धक्का मुक्की, वायरल हो रहा वीडियो

0

उत्तराखंड। मामला उत्तराखंड का है जहां उच्च शिक्षा एवं प्रोटोकोल राज्य मंत्री डा. धन सिंह रावत को अपने क्षेत्र में महिलाओं का जबरदस्त विरोध झेलना पड़ा। कहा जा रहा है मंत्री ने पेड़ काटने का आदेश दिया था। जिसका विरोध वहां पर मौजूदा महिलाओं ने जमकर किया। इसके लिए भाजपा मंत्री अपने ननिहाल और विधानसभा क्षेत्र पहुंचे ही थे कि महिलाओं ने हंगामा खड़ा कर दिया।

हालातों की जानकारी देते हुए वहां के लोगों ने बताया कि सड़क के लिए पेड़ कटने का विरोध कर रही थीं। उसी दौरान मंत्री के अचानक वहां से गुजरने पर उनका भी रास्ता रोक लिया गया। जिसके बाद वहां जमकर धक्का मुक्की हुई। अधिकारी और मंत्री के समर्थक बड़ी मुश्किल से मंत्री को भीड़ के बीच से निकालकर ले गए। राज्य मंत्री और महिलाओं के बीच खींचतान का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। यहां तक कि घटना पर व्यंग्यात्मक गीत भी बन गए हैं।

dhan singh rawat

खबरों की मुताबिक मंत्री वहां किसी कार्यक्रम में शरीक होने गए थे। जिसके बाद वह वहां मौजूद अपने रिश्तेदारों से मिलने जाने के लिए उन्होंने पैदल रास्ता तय करना का सोचा। लेकिन उनको अपना ये फैसला भारी तब पड़ गया जब वहां के मौजूदा लोगों ने उनका घेराव और धक्का मुक्की शुरु कर दी।

उनका कहना था कि सड़क की वजह से बांज-बुरांश के पेड़ कट रहे हैं। आपसी बहस के दौरान माहौल गरमा गया। जब तक साथ में चल रहे एसडीएम मायादत्त जोशी और सुरक्षा कर्मी कुछ समझते, तब तक धक्का-मुक्की होने लगी। राज्य मंत्री ने आगे बढ़ने के लिए एक महिला को हटाने की कोशिश की, तो वह फिसल गई। इससे लोगों का गुस्सा और बढ़ गया और उन्होंने राज्य मंत्री के विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी।

इस घटना के बारे में मंत्री डा. धन सिंह रावत का कहना है कि मारपीट और धक्कामुक्की जैसी कोई घटना नहीं हुई है। जो भी वीडियो वायरल हुआ वो सही नहीं है। यह सब कांग्रेस की चाल है।कांग्रेस के कुछ लोग नहीं चाहते हैं कि खंडखिल में रोड जाए, जबकि अधिकतर लोग चाहते हैं कि गांव तक सड़क का निर्माण हो।

loading...
शेयर करें