आजमगढ़ में सीएए के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं ने किया पथराव, हुआ लाठीचार्ज

आजमगढ़: आजमगढ़ में बिलरियागंज कस्बे के मौलाना जौहर अली पार्क में सीएए, एनआरसी व एनपीए का विरोध लगातार जारी है| इस विरोध में महिलाओं द्वारा बुधवार तड़के ही सुरक्षा में तैनात पुलिस के जवानों पर पत्थरों से हमला कर दिया। पथराव में एसपी सिटी पंकज पांडेय भी घायल हो गए। इसके बचाव में पुलिस ने अपनी ओर से लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे गए।

https://puridunia.com/speaker-in-the-state-of-the-union-tore-up-copy-of-trumps-address/439399/

पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया है। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उधर जाने नहीं दिया जा रहा है। इसके साथ ही बताते चलें कि गोपालपुर के सपा विधायक नफीस अहमद ने भी मंगलवार रात साढ़े 10 बजे पहुंचकर उन्हें समझाया, लेकिन धरना खत्म नहीं हो सका।इसके साथ ही बुधवार को सुबह चार बजे महिलाओं की सुरक्षा में तैनात पुलिस वालों पर पथराव किया गया। इसके बाद पुलिस ने लाठी लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है।

इस धरना-प्रदर्शन की न तो पूर्व की कोई घोषणा ही थी, न ही अनुमति लिया गया था। पुलिस और जिला प्रशासन को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी भी  नहीं थी। मंगलवार को 11 बजे के लगभग मौलाना जौहर अली पार्क में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं तिरंगा झंडा लेकर पहुंच गई। इसके बाद मौके पर धरना-प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू हो गई। धरना-प्रदर्शन की जानकारी होते ही बिलरियागंज पुलिस के हाथ पांव फूल गये। पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई और धरना समाप्त कराने की कवायद शुरू कर दी गई।

मंगलवार की शाम पांच बजे के लगभग मौलाना ताहिर मदनी व पूर्व चेयरमैन मोहम्मद आरिफ भी मौके पर पहुंच गए थे। इन लोगों ने भी महिलाओं को समझाने का प्रयास किया लेकिन महिलाओं का कहना था कि जब तक दिल्ली के शाहीन बाग में धरना चलेगा तब तक वे भी धरना देती रहेंगी।

Related Articles