IPL
IPL

एक बूंद शराब भी नहीं पीती फिर भी हमेशा टल्ली रहती है ये महिला

breathalyser

क्‍या आप शराब नहीं पीते और फिर भी नशे में रहते हैं। अरे भाई ये कोई मजाक नहीं है। दरअसल एक महिला के साथ ऐसा ही होता है। वह एक बूंद भी शराब नहीं पीती फिर भी हमेशा नशे में ही रहती है।

इस बात का खुलासा तब हुआ जब एक दिन ट्रैफिक पुलिस ने उस महिला को शराब पीकर गाड़ी चलाने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया। जांच में पाया गया कि उसके खून में निर्धारित सीमा से चार गुना ज्‍यादा मात्रा में अल्‍कोहल था। आरोपी महिला के वकील जोसेफ मारुसक ने बताया कि जज ने उन पर लगे सभी आरोपों को यह साबित होने के बाद खारिज कर दिया कि उनके शरीर में अपने आप ही अल्कोहल का स्तर बढ़ जाता है।

मामला यह है कि इस महिला को ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति के शरीर में अपने आप ही अल्कोहल बनता रहता है। इस बीमारी को ऑटो-ब्रीवरी सिंड्रोम कहा जाता है। ट्रैफिक नियम तोडऩे के आरोप में महिला को न्यूयॉर्क के हैमबर्ग में अरेस्ट किया गया था, लेकिन महिला की ओर से शरीर में ही अल्कोहल बनने के मेडिकल सबूत पेश करने के बाद जज ने उसे बरी कर दिया।

पैनोला कॉलेज ऑफ नर्सिंग की डीन बारबरा कॉर्डेल ने कहा कि मैं करीब ऐसे 30 लोगों के संपर्क में हूं, जिन्हें महसूस होता है कि उनको भी इसी तरह का सिंड्रोम है। कॉर्डेल के मुताबिक ऐसे लोग 0.03 और 0.04 अल्कोहल लेवल पर भी सामान्य ढंग से काम कर सकते हैं, जबकि दूसरे लोग इस स्थिति में मर भी सकते हैं। यह दुर्लभ मेडिकल स्थिति तब होती है जब गैस्ट्रोइंटेस्टिनल यीस्ट सामान्य भोजन से मिलने वाले कार्बोहाइड्रेट को एथेनॉल में बदलने लगता है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button