नए कृषि कानून के विरोध में मजदूरों ने छोड़ा दोपहर का भोजन

नई दिल्ली, नए कृषि कानून के विरोध में किसान अनवरत आंदोलन पर है, अब किसानों के साथ मजदूरों ने भी इस बिल के विरोध में अपने कदम बढ़ा दिए है। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून  के विरोध में क्रमिक भूख हड़ताल कर रहे किसानों के समर्थन में मजदूरों ने बुधवार को दोपहर का भोजन नहीं किया।

इसे भी पढ़े: जम्मू कश्मीर: डीडीसी चुनाव परिणामों से गदगद हुए शाह, कहा ये जनता के विश्वास की जीत है

अखिल भारतीय ट्रेड यूनियंस कांग्रेस की महासचिव अमरजीत कौर ने यहां बताया कि किसानों की भूख हड़ताल के समर्थन में मजदूरों और अन्य लोगों ने आज दोपहर का भोजन नहीं किया। उन्होंने कहा कि किसान दिवस के अवसर पर आयोजित इस अभियान को समाज के विभिन्न वर्गों से शानदार सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली।

इसे भी पढ़े: बातचीत के जरिये किसानों के सभी मुद्दों का हल निकल सकता है: उपराष्ट्रपति

महासचिव अमरजीत कौर ने कहा कि ये तीनों कानून काले कानून हैं और खेती-किसानी को तबाह कर देंगे। इन कानूनों को वापस कराने की किसानों की लड़ाई में मजदूर साथ हैं। आने वाले दिनों में किसान- मजदूर गठजोड़ और मजबूत होगा।

इसे भी पढ़े: कृषि मंत्री ने किया 196 बेटर लाइफ फार्मिंग सेंटर का शुभारंभ

Related Articles

Back to top button