WheelsEMI और यस बैंक की इस साझेदारी से कामकाजी परिवारों को होगा लाभ

नई दिल्ली : यस बैंक और व्हील्स ईएमआई ने सोमवार को एक संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा की उन्होंने सस्ती ब्याज दरों पर टू व्हीलर लोन देने के लिए हाल ही में एक समझौता किया है। जानकारों के मुताबिक यस बैंक और WheelsEMI के इस समझौते को को-लेंडिंग एग्रीमेंट नाम दिया गया है।

WheelsEMI की मदद से बढ़ेगा यस बैंक का मार्केट

इस एग्रीमेंट को आरबीआइ की लेंडिंग फ्रेमवर्क पालिसी को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। इससे आम जनता को बैंक के सस्ते लोन और किसी नॉन-बैंक फाइनेंसर की सर्विसिंग और एक्सपर्टाइज का फायदा मिलेगा। इस बयान में आगे कहा गया कि इस गठबंधन को दोनों लेंडर्स की ताकत का लाभ मिलेगा। इससे सभी स्टेक होल्डर्स के लिए बेहतरीन अवसर बनेगा, जिससे कंपनी की बाजार में पकड़ मज़बूत होगी। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस पालिसी से सबसे ज़्यादा मुनाफा कामकाजी परिवारों को होगा जो अबतक भारी ब्याज पर गाड़ी खरीदने को मजबूर थे।

इस कड़ी में यस बैंक के ग्लोबल हेड राजन पेंटल ने एक बयान जारी कर कहा कि इस व्यवस्था से बैंक नए बाजारों में अपनी उपस्थिति दर्ज कर अपनी पहुंच बढ़ा सकेगा। पेंटल ने कहा, “हम सेमी-अर्बन और ग्रामीण बाजारों में व्हील्स ईएमआई की ताकत का लाभ उठाने और इस साझेदारी के जरिए एक लाभदायक और टिकाऊ टू व्हीलर लोन पोर्टफोलियो बनाने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़ें : शेयरहोल्डर्स के ऐतराज के बावजूद Eicher ने सिद्धार्थ लाल को किया एमडी नियुक्त

Related Articles