इस बार ease of doing business रिपोर्ट नहीं जारी करेगा वर्ल्ड बैंक

न्यूयोर्क : वर्ल्ड बैंक ने हाल ही में एक बयान जारी कर कहा कि उसने देशों में इन्वेस्टमेंट के माहौल पर ease of doing business रिपोर्ट प्रकाशित नहीं करने का फैसला किया है। इस कड़ी में वर्ल्ड बैंक का कहना है कि जांच में उसने पाया कि उसके अधिकारियों की ओर से डाटा में गड़बड़ी की गई है। इनमें मौजूदा चीफ चीफ एग्जिक्यूटिव क्रिस्टियाना जॉर्जियेवा भी शामिल थी।

ease of doing business रिपोर्ट की रैंकिंग में हुआ घोटाला

अपने बयान में वर्ल्ड बैंक ने कहा कि यह फैसला इंटरनल ऑडिट रिपोर्ट के आने के बाद लिया गया है। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक यह गड़बड़ लॉ फॉर्म विल्मर हेल की जांच में उजागर हुई है।

यह भी पढ़ें : वृहद स्तर पर टीकाकरण अभियान, फैलने न पाएं कोरोना संक्रमण, किए गए जरूरी इंतजाम

विल्मर हेल की रिपोर्ट में वर्ल्ड बैंक के प्रेसिडेंट जिम योंग किम की ओर से चीन के स्कोर को बढ़ाने के लिए एक एक अधिकारी पर दबाव डालने का आरोप लगाया गया है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि कर्मचारियों पर चीन के डाटा को बदलने और बढ़ाने का दबाव डाला गया था जिससे चीन की रैंकिंग उम्दा हो जाए।  हालांकि, क्रिस्टियाना ने इन सभी आरोपों का खंडन किया है।

यह भी पढ़ें : कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताई नाराजगी, कांग्रेस के इस फैसले पर पंजाब से छोड़ी कप्तानी

Related Articles