IPL
IPL

World Cup 2011: विश्वकप को हुए 10 साल, जानिये इससे जुडी कुछ ख़ास बातें

नई दिल्ली: महेंद्र सिंह धोनी को वह करिश्माई छक्का जड़े हुए आज 10 साल हो गए। 2011 में आज के ही दिन पूरा भारत नीले समंदर में रंग गया था और चारो ओर बस एक ही नाम गूँज रहा था ” सचिन सचिन ” एमएस धोनी, कपिल देव के बाद 50 ओवर के विश्व कप को उठाने वाले केवल दूसरे भारतीय कप्तान बने। भारत घर में World Cup जीतने वाली पहली टीम बन गई। उम्मीदों के दबाव को संभालना आसान नहीं था लेकिन कप्तान धोनी और उनकी टोली ने हर चुनौतियों का सामना करके भारत को विश्वविजेता का खिताब दूसरी बार दिलाया। आइये एक बार फिर चलते हैं भारत के विश्वविजेता बनने के उस सफर पर…

2011 World Cup में भारत के विजय रथ को 12 मार्च को दक्षिण अफ्रीका की टीम ने रोका था। भारतीय टीम ने बड़ी बड़ी दिग्गज टीमों को हरा कर फाइनल में यह कारनामा कर दिखाया और 28 सालों का सूखा ख़त्म कर के भारत ने World Cup को अपने नाम कर लिया।

2011 वर्ल्डकप की भारतीय टीम

MS.DHONI (C), VIRENDRA SEHWAG (VC) , SACHIN TENDULKAR ,GAUTAM GAMBHIR , YUVRAJ SINGH ,VIRAT KOHLI , SURESH RAINA , YUSUF PATHAN ,HARBHAJAN SINGH ,ZAHIR KHAN , MUNAF PATEL , ASHISH NEHRA ,SREESANTH ,PIYUSH CHAWLA , RAVICHANDAN ASHWIN

आज विश्वकप की दसवीं सालगिरा पर आइये जानते है की यह सभी 15 खिलाड़ी आज क्या कर रहे है। भारत की इस विजेता टीम में फिलहाल 15 में से 11 खिलाड़ी रिटायर हो चुके है और फिलहाल विराट कोहली और रवि अश्विन ही इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना योगदान दे रहे है।

MS DHONI

एमएस धोनी 15 अगस्त, 2019 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके है । हालांकि, विश्व कप विजेता कप्तान इंडियन प्रीमियर लीग में खेल रहे हैं। धोनी आईपीएल के आगामी संस्करण में चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व करेंगे, जो 9 अप्रैल से शुरू होगा।

धोनी ने 2019 विश्व कप के बाद से आईपीएल के अलावा क्रिकेट नहीं खेला है और अब तक कमेंट्री और कोचिंग भूमिकाओं से दूर ही हैं। धोनी अपने परिवार के साथ समय बिता रहे हैं और खेती में भी अपना हाथ आजमा रहे हैं। धोनी territorial army unit में lieutenant colonel की भी भूमिका निभा रहे हैं, उन्होंने 2011 विश्व कप के बाद 164 मैच खेले और 2015 World Cup में भारत का नेतृत्व किया।

Virat Kohli reveals his fear in the 2011 World Cup Final | The SportsRush
VIRAT KOHLI

विराट कोहली ने अपने पहले ही विश्वकप संस्करण में विश्व कप जीता। और तब से विराट ने अपना कद काफी ऊंचा कर लिया है । फिलहाल विराट सभी 3 प्रारूपों में भारत के कप्तान हैं और उन्हें इस युग के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। कोहली इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी भी करते हैं।

2011 विश्व कप के बाद कोहली ने 200 वनडे खेले हैं। उन्होंने 2017 चैंपियंस ट्रॉफी और 2019 विश्व कप में भारत का नेतृत्व किया। कोहली इस साल के अंत में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल और टी 20 World Cup में भारत का नेतृत्व करेंगे।


VIRENDRA SEHWAG

सहवाग ने 2015 में अपने 37 वें जन्मदिन पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज ने 2015 तक आईपीएल में खेला। रिटायरमेंट के बाद सहवाग एक कमेंटेटर की भूमिका निभा रहे हैं। सहवाग हरियाणा में अपना खुद का स्कूल भी चलाते हैं।

सहवाग ने हाल ही में रायपुर में एक T20 टूर्नामेंट – रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज़ में हिस्सा लिया। वह सचिन तेंदुलकर की अगुवाई वाली टूर्नामेंट विजेता इंडिया लीजेंड्स टीम का हिस्सा थे।

सहवाग ने आखिरी बार 2013 में भारत के लिए एकदिवसीय मैच खेला था। उन्होंने 2011 विश्व कप के बाद सिर्फ 15 मैच खेले जिसमे उन्होंने 513 रन और 1 शतक भी जड़ा।

Sachin Tendulkar, Virender Sehwag recall India's 2011 World Cup triumph | Cricket News | Zee News
SACHIN TENDULKAR

तेंदुलकर ने नवंबर 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। सचिन ने 2012 और 2018 के बीच संसद सदस्य भी रहे। तेंदुलकर ने कोच की भूमिका नहीं निभाई , लेकिन वह 5 बार के आईपीएल चैंपियन मुंबई इंडियंस के मेंटर रहे हैं। मास्टर ब्लास्टर ने कुछ बड़ी श्रृंखलाओं की , कमेंटरी में भी अपना हाथ आज़माया है। तेंदुलकर ने हाल ही में रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज़ खेली, जिसमें उन्होंने इंडिया लीजेंड्स को खिताब दिलाया। 2011 के बाद सचिन ने 10 वनडे खेले जिसमे उन्होंने अपने 100 शतक जड़ कर एक नया कीर्तिमान हासिल किया।


YUVRAJ SINGH

युवराज निस्संदेह 2011 विश्व कप में भारत के लिए सबसे बड़ा मैच विजेता थे । विश्व कप जीत के 7 महीने बाद, यह पता चला कि युवराज अपने फेफड़ों में एक ट्यूमर से पीड़ित थे। 2012 की शुरुआत में, यह पुष्टि की गई कि यह ट्यूमर अब एक प्रकार के कैंसर का रूप ले चुका था – मीडियास्टिनल सेमिनोमा। युवराज विश्व कप के दौरान भी ट्यूमर से जूझ रहे थे। युवराज को भारत के विश्वकप अभियान के दौरान कई बार उल्टी हुई। हालांकि, युवराज ने 2012 में UAE में उपचार के बाद कैंसर से उबरने में कामयाब रहे ।

अगस्त 2012 तक, युवराज भारत के लिए खेल रहे थे। उन्होंने 2012 टी 20 विश्व कप, 2014 टी 20 विश्व कप और 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में भारत का प्रतिनिधित्व किया। युवराज ने 2019 में रिटायरमेंट की घोषणा की लेकिन उन्होंने 2020 में क्रिकेट में वापसी करने का फैसला किया। युवराज ने विदेशों में टी 20 टूर्नामेंट खेले और रायपुर में तेंदुलकर और सहवाग के साथ सड़क सुरक्षा विश्व श्रृंखला में भी भाग लिया।

विश्व कप के नायक कमेंट्री और कोचिंग से फिलहाल दूर ही है । युवराज YouWeCan ’फाउंडेशन भी चलाते हैं जिसका उद्देश्य जागरूकता, , शीघ्र पहचान, रोगी सहायता और उत्तरजीविता सशक्तिकरण के माध्यम से कैंसर से लड़ना है। युवराज सिंह ने 2011 विश्व कप के बाद 30 वनडे खेले और 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में दूसरे नंबर पर रही भारतीय टीम का हिस्सा थे।

On This Day: WATCH- MS Dhoni and Gautam Gambhir bring India their second World  Cup triumph
GAUTAM GAMBHIR

गंभीर वर्तमान में लोकसभा में सांसद के रूप में सेवारत हैं। वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए और 2019 में पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से जीत गए।

गंभीर ने कमेंट्री में भी अपना हाथ आजमाया है । वह देश में समाचार पत्रों और खेल पोर्टलों के लिए एक लोकप्रिय विश्लेषक भी हैं। वह गौतम गंभीर फाउंडेशन भी चलाते हैं जिसका उद्देश्य जरूरतमंदों की मदद करना है। गंभीर अपने फाउंडेशन के माध्यम से शहीदों के बच्चों की मदद करते रहे हैं।

गंभीर ने दिसंबर 2018 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। स्टार क्रिकेटर ने 2018 तक इंडियन प्रीमियर लीग भी खेली है । उन्होंने आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स का 2014 और 2018 में नेतृत्व किया जिसके बाद ही वह वापस दिल्ली कैपिटल में शामिल हो गए। गंभीर ने 2011 विश्व कप के बाद भारत के लिए 33 वनडे मैच खेले। उन्होंने आखिरी बार 2013 में एकदिवसीय मैच खेला था।


ZAHEER KHAN

जहीर पिछले 3 सालों से मुंबई इंडियंस के मेंटर हैं। ज़हीर 2018 में MI के क्रिकेट निदेशक के रूप में शामिल हुए और 5 बार बनी चैंपियन मुंबई इंडियंस के साथ जुड़े रहे।

MI में मेंटरशिप भूमिका के अलावा, ज़हीर एक कमेंटेटर और विश्लेषक रहे हैं। ज़हीर फिलहाल हिंदी और अंग्रेजी कमेंट्री पैनल का हिस्सा रहे हैं। जहीर ने 2015 की शुरुआत में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी लेकिन उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना जारी रखा। उन्होंने T20 टूर्नामेंट को अलविदा कहने से पहले 2017 में दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी और मेंटरिंग की।

जहीर खान ने 2019 विश्व कप के बाद केवल 9 एकदिवसीय मैच खेले, आखिरी बार 2012 में 50 ओवर का अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला था।

Harbhajan Singh 'Ready' To Play For India Again, Takes Dig At Selectors
HARBHAJAN SINGH

आईपीएल 2019 में आखिरी बार घरेलू क्रिकेट खेलने के बावजूद हरभजन सिंह एक सक्रिय क्रिकेटर बने हुए हैं। वह आईपीएल 2021 के लिए तैयारी कर रहे हैं, जिसमें वह अपनी तीसरी फ्रैंचाइज़ी कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलेंगे। हरभजन ने निजी कारणों का हवाला देते हुए आईपीएल 2020 से हाथ खींच लिए थे, लेकिन ऑफ स्पिनर को केकेआर ने 2 करोड़ रुपये में इस साल फरवरी में नीलामी में खरीदा था।

क्रिकेट खेलने के अलावा, हरभजन कमेंट्री करने का भी दम ख़म रखते हैं। आजतक और इंडिया टुडे सहित लोकप्रिय टेलीविजन प्लेटफार्मों पर एक सक्रिय टिप्पणीकार और एक विश्लेषक के जरिये हरभजन खेल लगातार जुड़े रहे हैं। हरभजन ने 2011 विश्व कप के बाद केवल 10 वनडे खेले। वह 2016 तक T20I और 2015 तक टेस्ट और ODI टीम का हिस्सा थे।


ASHISH NEHRA

आशीष नेहरा एक बेहतरीन कमेंटेटर और विशेषज्ञ रहे हैं। वह मुख्य रूप से भारत के अंतर्राष्ट्रीय मैचों के लिए हिंदी कमेंट्री करते हैं। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने 2017 में सभी प्रकार के क्रिकेट से संन्यास ले लिया। नेहरा ने 2017 तक इंडियन प्रीमियर लीग खेला, जिसके बाद उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए कोच के रूप में काम किया।

आशीष नेहरा ने 2011 विश्व कप सेमीफाइनल के बाद अंतराष्ट्रीय वनडे मैचों में नज़र नहीं आये । हालांकि, उन्होंने 2017 तक भारत के लिए टी 20 आई क्रिकेट खेला।

S Sreesanth reveals inside story behind how he got to play in 2011 World Cup  final
SREESANTH

श्रीसंत ने इस साल की शुरुआत में क्रिकेट में वापसी की, घरेलू सफेद बॉल टूर्नामेंट में केरल का प्रतिनिधित्व किया। श्रीसंत 28 साल के थे, जब उन्होंने 2011 विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। हालांकि, 2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग घोटाले में उन्हें 7 साल के लिए प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से दूर कर दिया। श्रीसंत ने खेल में लौटने से पहले राजनीति, अभिनय और रियलिटी शो में अपना हाथ आजमाया।

बीसीसीआई ने श्रीसंत को 2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग घोटाले में अगस्त 2013 में उन्हें जीवन भर के लिए प्रतिबंधित कर दिया था, जिसने भारतीय क्रिकेट बिरादरी को हिलाकर रख दिया था। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद, बीसीसीआई ने उनके जीवन प्रतिबंध को घटाकर सात साल कर दिया। उनका प्रतिबंध सितंबर 2020 में समाप्त हो गया।

श्रीसंत ने 2011 विश्व कप के बाद भारत के लिए एक भी वनडे नहीं खेला। हालांकि, प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करने के बाद, पेसर को भारत में वापसी करने की उम्मीद है।

SURESH RAINA
SURESH RAINA

सुरेश रैना अपनी आईपीएल वापसी के लिए कमर कस रहे हैं। व्यक्तिगत कारणों से आईपीएल 2020 से बाहर होने के बाद, बाएं हाथ के बल्लेबाज आईपीएल 2021 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलेंगे। विश्व कप विजेता टूर्नामेंट के लिए उत्तर प्रदेश में अभ्यास कर रहे थे । उन्होंने इस साल की शुरुआत में सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट भी खेला है ।

धोनी ने 15 अगस्त, 2020 को अपने रिटायरमेंट की घोषणा की जिसके कुछ घंटे बाद रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। अपनी पत्नी प्रियंका के साथ, रैना ने ग्रेसिया रैना फाउंडेशन चलाया जो भारत में मातृ स्वास्थ्य और किशोर स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता फैलाने पर काम करता है।

रैना ने 2011 विश्व कप के बाद 111 वन डे खेले। वह 2018 तक भारत के सीमित ओवर क्रिकेट का हिस्सा थे। रैना 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी विजेता भारतीय टीम का भी हिस्सा थे।

MUNAF PATEL
MUNAF PATEL

मुनाफ पटेल ने 2018 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया लेकिन भारत के पूर्व तेज गेंदबाज फ्रेंचाइजी आधारित टी 20 प्रतियोगिताओं को खेलते हुए खुद को व्यस्त रखते हैं। उन्होंने 2020 में लंका प्रीमियर लीग के उद्घाटन संस्करण में कैंडी टस्कर्स का प्रतिनिधित्व किया।

पटेल इंडिया लेजेंड्स टीम का हिस्सा थे जिसने पिछले महीने रायपुर में रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का उद्घाटन संस्करण जीता था। उन्होंने 2017 तक आईपीएल और 2016 तक घरेलू क्रिकेट खेला। मुनाफ ने 2011 विश्व कप के बाद केवल 8 वनडे खेले। चोटों से घिरे मुनाफ ने 2011 के बाद भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला।

YUSUF PATHAN
YUSUF PATHAN

युसुफ पठान ने फरवरी 2021 में क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। ऑलराउंडर ने हाल ही में रायपुर में इंडिया लेजेंड्स के लिए रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज खेली। युसुफ ने पिछले हफ्ते कहा कि उन्होंने कोविद -19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया और घर पर क्वारंटाइन हैं।

YUSUF ने 2019 संस्करण तक आईपीएल खेला और पिछले कुछ वर्षों में कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए एक शानदार भूमिका निभाई है। 2011 वर्ल्ड कप के बाद यूसुफ ने सिर्फ 6 वनडे मैच खेले। बड़ौदा के इस ताबड़तोड़ ऑलराउंडर ने 2012 के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला।


PIYUSH CHAWLA

पीयूष चावला फिलहाल क्रिकेट से पूरी तरह जुड़े हुए है । 32 वर्षीय पियूष चावला को आईपीएल में 5 बार विजेता रही मुंबई इंडियन ने 2021 में 2.40 करोड़ की कीमत में अपनी टीम में शामिल कर लिया। चावला 2021 में विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट में गुजरात की ओर से हिस्सा थे।

चावला 2011 विश्व कप के बाद वनडे में भारत के लिए नहीं खेले। भारतीय जर्सी में उन्हें आखिरी बार दिसंबर 2012 मेंदेखा गया जब उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टी 20 आई में राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व किया।

(ये खबर हमारे इंटर्न कार्तिकेय शर्मा ने लिखी है)

Related Articles

Back to top button