World Music Day 2020: इस विश्व संगीत दिवस पर लें इन किताबों का मजा

नई दिल्ली: दुनिया भर के कई अलग-अलग हिस्सों में 21 जून को विश्व संगीत दिवस मनाया जाता है. इस दिन आप कुछ बेहतर संगीत के साथ दिल को बहलाने के अलावा कुछ रोचक किताबों को पढ़कर मन को सुकून भी दे सकते हैं.

नसरीन मुन्नी कबीर द्वारा लिखित इस किताब में उनके और दिग्गज गायिका लता मंगेशकर के बीच गहरी बातचीत है. इसमें उनकी निजी जिंदगी की झलक हमें ?देखने को मिलती है. .

डागर्स एंड ध्रुपद – द डिवाइन लेगेसी

हमरा कुरैशी द्वारा लिखित इस किताब में डागरा परिवार के समृद्ध विरासत के बारे में बताई गई है, जिनकी बीस पीढ़ियां ध्रुपद गायकी से जुड़े रहे हैं.

निलिनास सॉन्ग – द लाइफ ऑफ नैना देवी

आशारानी माथुर की इस किताब में संगीतज्ञ नैना देवी के असाधारण जीवन का वर्णन विस्तार से लिखी गई है.

सॉन्ग्स ऑफ टैगोर

रवींद्रनाथ टैगोर के 112 चुनिंदा गीतों के प्रकाशन का यह संग्रह मुख्य रूप से भारतीय और गैर-भारतीय श्रोताओं के लिए है, जिनकी कवि की मूल भाषा तक कोई पहुंच नहीं है, लेकिन ?जो उनके गीतों को सुनना बेहद पसंद करते हैं और अपने गीतों के माध्यम से वह क्या कहना चाहते हैं, इसे समझने की चाह रखते हैं.

बीथोवेन एंड फ्रेंड्स

किशोर चटर्जी की यह किताब कई लोगों के जीवन की असामान्य कहानियों के माध्यम से पश्चिमी शास्त्रीय संगीत के इतिहास को प्रस्तुत करती है जिसने इसे आकार दिया.

इसके अलावा गीता सहाय और श्रृंखला सहाय की किताब ‘बियॉन्ड म्यूजिक – मेस्ट्रोस इन कन्वर्सेशन’, शिव कुमार शर्मा द्वारा लिखित व इना पुरी द्वारा संपादित ‘द मैन एंड हिज म्यूजिक’, श्याम बनर्जी की किताब ‘पंडित अजय चक्रवर्ती – सीकर ऑफ द म्यूजिक विदिन’, धीरेंद्र जैन और कोटरी की किताब ‘मोहम्मद रफी : गॉड्स ओन वॉयस’, जूही सिन्हा द्वारा लिखित ‘बिस्मिल्ला खां – द मैस्ट्रो फ्रॉम बनारस’ जैसी बेहतरीन किताबों को भी इस वल्र्ड म्यूजिक डे पर पढ़ा जा सकता है व संगीत के कुछ अनछुए पहलुओं के बारे में विस्तृत जाना जा सकता है.

Related Articles