आंध्र प्रदेश में चिंताजनक स्थिति, अचानक बीमार हुए 250 से ज्यादा लोग

बीमार तथा स्थानीय लोगों के रक्त नमूनों की जांच में अधिकतर कोरोना एवं अन्य संक्रामक रोगों से संक्रमित पाए गए हैं। डॉक्टरों, एवं स्वास्थ्यकर्मियों की टीम लोगों के बीमार होने के सही कारण का पता लगाने के लिए जांच कर रही है।

इलुरु: आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले में महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 267 लोग अचानक बीमार पड़ गए। सभी बीमार लोगों में उल्टी, सिरदर्द और दौरे पड़ने की शिकायत बताई जा रही है।

जिले के तोरपू वीदी, दक्षिण वीदी, अशोक नगर और अरुंधतिनगर में शनिवार रात से 76 महिलाओं तथा 46 बच्चों समेत कुल 267 लोग अचानक बीमार पड़े गए हैं।

आंध्र प्रदेश नगर निगम ने नकारी पानी दूषित होने की बात

अधिकतर लोगों को नजदीक के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। साथ ही कुछ लोगों को विजयवाड़ा के जीजीएच अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। अभी तक नगर निगम की ओर से सप्लाई किए जा रहे पानी के दूषित होने की आशंका जताई जा रही थी। लेकिन स्थानीय अधिकारियों ने इस बात को नकारते हुए कहा कि, “नगर निगम की ओर से सप्लाई किए जा रहे पानी में कोई कमी नहीं है और यह पूरी तरह से शुद्ध पाया गया है।”

बीमार तथा स्थानीय लोगों के रक्त नमूनों की जांच में अधिकतर कोरोना एवं अन्य संक्रामक रोगों से संक्रमित पाए गए हैं। डॉक्टरों, एवं स्वास्थ्यकर्मियों की टीम लोगों के बीमार होने के सही कारण का पता लगाने के लिए जांच कर रही है।

अब तक 227 से अधिक लोग हो चुके है बीमार

प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने वाले स्वास्थ्य मंत्री अला काली कृष्णा श्रीनिवास ने बताया कि अब तक सिर में दर्द होने, उल्टी और दौरे पड़ने की शिकायत के कारण 227 से अधिक लोग बीमार हो चुके हैं। बीमार लोगों में 76 महिलाएं और 46 बच्चे शामिल हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब तक 70 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है।

सीएम सोमवार को करेंगे अस्पताल का दौरा

आंध्र प्रदेश के राज्यपाल बिस्वा भूषण हरिचंदन ने इस घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए स्थानीय अधिकारियों से इस संबंध में जानकारी मांगी है। साथ ही स्वास्थ्य अधिकारियों को इस संबंध में उचित कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी सोमवार को अस्पताल का दौरा कर मरीजों का हाल जानेंगे।

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने जताई चिंता

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के राष्ट्रीय महासचिव एवं पार्षद नारा लोकेश ने अस्पताल में जाकर मरीजों का हाल-चाल जाना। तेदेपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने भी इस हादसे को लेकर चिंता व्यक्त की है।

ये बी पढ़ें: ‘केवल भाजपा ही दिखा सकती है जम्मू-कश्मीर को विकास और सुशासन का रास्ता’

Related Articles