WTC Final: न्यूजीलैंड ने रचा इतिहास, बना पहला टेस्ट का चैंपियन

पहली बार खेले गए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से हराकर खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया है।

नई दिल्ली: पहली बार खेले गए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से हराकर खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया है। 144 साल के टेस्ट इतिहास में यह पहला मौका है, जब दुनिया को टेस्ट क्रिकेट का वर्ल्ड चैंपियन मिला है। बारिश से प्रभावित इस मैच में 5 दिनों के खेल तक दोनों टीमों के संयुक्त विजेता बनने की उम्मीद थी। लेकिन जब बारिश से प्रभावित यह मैच रिजर्व डे में पहुंचा तो न्यूजीलैंड ने अपनी बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर भारत को उसकी दूसरी पारी में मात्र 170 रनों पर ऑल आउट कर दिया और आसानी से यह मैच अपने नाम कर लिया। ये रहे भारत की हार के 5 कारण

बता दें कि मौसम की बजह से इस मैच का परिणाम पहले ही सामने आ चुकी थी कि इस मैच में बारिश का प्रभाव रहेगा। ऐसे में न्यूजीलैंड ने तो परिस्थितियों को भांपते हुए अपने पांचों गेंदबाजों के रूप में तेज गेंदबाजों को मौका दिया। लेकिन भारत ने इससे सबक नहीं लिया और उसने अपने एक नहीं दो स्पिनरों को मैच में उतार दिया, जबकि पहली पारी में दोनों स्पिनरों ने सिर्फ 22 ओवर ही फेंके। दूसरी पारी में भी अश्विन और जडेजा की जोड़ी ने कुल 18 फेंके। हालांकि अश्विन ने भले दमदार खेल दिखाया लेकिन जड्डू इस मैच में फीके ही दिखें।

टॉस जीतकर पहले बैटिंग

भारत को टॉस जीतकर यहां पहले बैटिंग का निमंत्रण मिला था। स्विंग और सीम गेंदबाजी के अनुकूल माहौल के बावजूद रोहित शर्मा और शुबमन गिल ने टीम को ठोस शुरुआत दी। लेकिन इसके बावजूद भारतीय मिडल ऑर्डर का स्तंभ माने जाने वाले कप्तान विराट कोहली, चेतेश्वर पुजाार और अजिंक्य रहाणे एक साथ बड़ी पारियां खेलने से चूक गए। पुजारा (15 और 8) दोनों पारियों में फ्लॉप रहे, वहीं कोहली और रहाणे ने पहली पारी में क्रमश: 44 और 49 रन जरूर जोड़े लेकिन दूसरी पारी में दोनों सिर्फ 13 और 15 रन की पारियां खेलकर आउट हो गए। नतीजा भारतीय टीम को दूसरी पारी में रनों के लिए तरसना पड़ा।

भारत की पहली पारी मात्र 217 रनों पर सिमट गई। लेकिन दूसरी पारी में उसके पास खुद को साबित करने का मौका था। मैच के 5वें दिन अच्छी शुरुआत के बावजूद छठे दिन उसके सभी बल्लेबाज एक-एक कर लड़खड़ा गए। इस बार टीम इंडिया के लिए बैटिंग के लिए बेहतरीन कंडिशन्स थीं लेकिन वह कीवी गेंदबाजों के आगे इसका लाभ नहीं उठा पाई और मात्र 170 रनों पर सिमट गई। इसमें भी 41 रन का योगदान रिषभ पंत ने दिया नहीं यह मैच बहुत जल्दी ही खत्म हो चुका होता। इसके चलते न्यूजीलैंड को 53 ओवर में 139 रन का साधारण सा लक्ष्य मिला।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के दामों में हुआ इजाफा, जानिए देश के बड़े शहरों में क्या है रेट?

Related Articles