यमुना एक्सप्रेसवे को इलेक्ट्रिक-हाईवे बनाने की हुई घोषणा, अटल जी को होगा समर्पित

 

नई दिल्ली: दिल्ली से आगरा को जोड़ने वाले यमुना एक्सप्रेसवे को ई-हाईवे बनाने के लिए चल रहे नेशनल हाइवे फार इलेक्ट्रिक वेहिक्ल (एन.एच.ई.वी.) कार्यक्रम को फिर से 25 नवंबर से शुरू किया जाएगा।

दरअसल यह कार्यक्रम कोरोना महामारी के कारण अप्रैल में रद्द हो गया था, जिसके बाद एडवांस्ड सर्विसेज फॉर सोशल एंड एडमिनिस्ट्रेटिव रीफॉर्म्स (ASSAR ) ने आज यहां घोषणा करते हुए बताया, कि एक बार फिर यमुना एक्सप्रेससवे पर ट्रायल शुरू किया जाएगा।

केंद्रीय लघु और सूक्ष्म उद्योग मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी इस अवसर पर इलेक्ट्रिक साइकल से इंडिया गेट पहुंचेगे और ट्रायल रन की इलेक्ट्रिक फ्लीट तक उन्हें फ्लैग-आफ कार्यक्रम के लिए ग्रेटर नोयडा कार्यक्रम स्थल तक इलेक्ट्रिक कार से लेकर जाया जाएगा।

प्रताप चंद्र सारंगी ने आज इलेक्ट्रिक बाइक का ट्रायल भी लिया और बताया कि उन्हें इस बात की ख़ुशी है, कि वैश्विक आपदा के बाद भी (ASSAR ) भारत रत्न से सम्मानित पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के जन्म दिवस से पहले उनके नाम से समर्पित अटल विद्युत मार्ग का ट्रायल रन इसी वर्ष 2020 में शुरू किया जा रहा है।

इज आफ़ डूइंग बिज़नेस के लिए तकनीकी पायलट करने वाली संस्था एस्सार के कार्यक्रम निदेशक अभिजीत सिन्हा ने बताया कि इंडिया गेट से मंत्री, सांसद सदस्यों और विशिष्ठ अतिथियों को लेकर 4 इलेक्ट्रिक कारें 8 इलेक्ट्रिक बाइक और पत्रकारों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ 2 इलेक्ट्रिक बस कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना होंगी।

ये भी पढ़ें: 28 छात्रों की याचिका पर HC ने कहा-dl.ed चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा टालने पर गौर करें

Related Articles