दिल्ली में यमुना ने लिया रौद्र रुप, 27 ट्रेंनें की गईं रद्द!

0

नई दिल्ली: उत्तर भारत और पहाड़ों में हो रही मूसलाधार बारिश से यमुना और गंगा ने रौंद्र रुप ले लिया है। दोनों ही नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से रविवार शाम 1.18 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। जिससे दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है। वहीं यमुना पुल पर बढ़ते जलस्तर को देखते हुए 27 ट्रेनों को स्थगित कर दिया गया है।

दिल्ली में डेंजर लेवल से 79 सेमी ऊपर पहुंची यमुना

दिल्ली में यमुना का जलस्तर रविवार शाम खतरे के निशान को पार कर 205.53 मीटर तक पहुंच गया। यह खतरे के निशान से 79 सेंटीमीटर ज्यादा है। जिसके मद्देनजर रेलवे ने सोमवार को एहतियातन 150 साल पुराने यमुना ब्रिज (लोहा पुल) पर रेल यातायात को बंद कर दिया गया। इससे करीब 27 ट्रेनें रद्द हो गईं और 7 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया। वहीं 8 ट्रेनों को कुछ समय के लिए दिल्ली-शाहदरा (6) और गाजियाबाद (2) पर ही रोक दिया गया है।

कई इलाकों में घुस सकता है यमुना का पानी

सोमवार को यमुना का जलस्तर 205.65 मीटर तक पहुंचने का अनुमान है। 207 मीटर के लेवल के बाद ही आसपास के इलाकों में पानी घुस सकता है। यमुना का जलस्तर रविवार देर रात 163 मीटर दर्ज किया गया। किसी भी तरह के हालात से निपटने के लिए यहां अलग-अलग जगह 23 बाढ़ सहायता शिविर बनाए गए हैं। 33 बाढ़ केंद्र स्थापित किए हैं।

राजधानी के इन इलाकों में बाढ़ का खतरा

बढ़ते जलस्तर के कारण दिल्ली के गढ़ी मांडू, यमुना बाजार, शास्त्री पार्क, गीता कॉलोनी, वजीराबाद, सोनिया विहार, गांधी नगर, जगतपुर गांव, ओखला, बाटला हाउस, सराय काले खां, और राजघाट में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। इन इलाकों में गीता कॉलोनी में सबसे ज्यादा बाढ़ का खतरा बना हुआ है।

यूपी में चार दिनों में 70 लोगों की मौत

उधर, यूपी में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जानलेवा होती जा रही है। पिछले चार दिनों में बारिश, बाढ़ और बिजली गिरने की घटनाओं से 70  लोगों की मौत हो गई है, जबकि 77 लोग घायल हुए हैं। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान पूर्वांचल और उससे सटे जनपदों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

loading...
शेयर करें