तीसरे दिन भी यमुनोत्री हाईवे मार्ग बंद, यात्री हो रहे परेशान

0

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम के हालत अब पहले से काफी हद तक ठीक हो चुके हैं लेकिन इसके बावजूद लोगों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। तेज धूप होने के बाद भी लगातार सड़कों पर भूस्खलन की वजह से मलबा गिर रहा है। ऐसे में आज यानी तीसरे दिन भी मलबा जमा होने से यमुनोत्री हाईवे मार्ग बंद रहा। इस कारण वहां आठ सौ से ज्यादा यात्री फंसे हैं।

यह भी पढ़ें, लगातार मलबा गिरने से यमुनोत्री राजमार्ग बंद, दर्जनों यात्री बीच में फंसे

यमुनोत्री हाईवे मार्ग बंद

इधर पिथौरागढ़ के धारचूला में एक बोल्डर पहाड़ी से गिर गया। जिसकी चपेट में आकर सड़क मरम्मत कर रहे एक मजदूर निवासी नेपाल की मौत हो गयी। मौसम विभाग ने भी अलर्ट जारी किया है अगले 24 घंटों में हल्की-हल्की बारिश हो सकती है।

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ। आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि यमुनोत्री प्रमुख पड़ाव बड़कोट और यमुनोत्री धाम के बीच ओजेरी नामक स्थान पर लगातार पहाड़ी दरक रही है। इससे इतना ज्यादा मलबा आ रहा है कि सड़क का करीब 500 मीटर हिस्सा ध्वस्त हो गया है।

ऐसे में मलबा भी रुक-रुक कर गिर रहा है जिस कारण हटाने का काम भी शुरू नहीं हो पा रहा है। उन्होंने बताया कि यात्रियों को स्याना चट्टी और जानकीचट्टी में रोका जा रहा है। जब मलबा गिरना बंद हो जायेगा उसके बाद ही सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) रास्ता साफ़ करने का काम शुरू कर पायेगा।

loading...
शेयर करें