येदियुरप्पा ने किसानों से कहा, आंदोलन छोड़ बातचीत के लिये आगे आएं

येदियुरप्पा ने नये कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों से आंदोलन का रास्ता छोड़ कर बातचीत के जरिये समस्याओं का समाधान निकालने की अपील की है

बेंगलुरु: कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने नये कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों से आंदोलन का रास्ता छोड़ कर बातचीत के जरिये समस्याओं का समाधान निकालने की अपील की है।

येदियुरप्पा ने किसानों के लाठियां लेकर आंदोलन करने और राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपने के लिए राज भवन की ओर मार्च निकालने के बाद यह अपील की है। उन्होंने कहा, रोजाना आंदोलन करना सही नहीं है। कल किसानों ने भारत बंद आंदोलन किया, आज वे लाठियां पकड़े हुये राज्य सचिवालय, जहां विधानसभा सत्र चल रहा है, की घेराबंदी करने का प्रयास कर रहे हैं।

असल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों की आय को दोगुना करने का पुरजोर प्रयास कर रहे हैं और इस दिशा में एक के बाद एक कदम उठा रहे हैं। विपक्षी दल किसानों को फायदे बताये बिना भड़का रहे हैं। मैं किसानो से आंदोलन छोड़ कर बातचीत के लिए आने की अपील करता हूं। मैं इसके लाभों के बारे में विस्तार से बताने के लिये तैयार हूं।

किसानों की बैठक 

सिंघु बॉर्डर पर चल रही किसानो की बैठक से यह जानकारी आरही है कि सभी ने एक स्वर में सरकार के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है और कृषि कानून की वापसी और बिजली से जुड़े कानून न लाने की मांग की है। इस संबंध में किसान कुछ देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरी जानकारी देने वाले है।

यह भी पढ़े: उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति कर्णन हुए कोरोना संक्रमित

Related Articles

Back to top button