हां! मैंने बच्चे के लिए कम उम्र के लड़के का इस्तेमाल किया

m-110”हां, मैंने बच्चे के लिए बेरहमी से अपने से बहुत छोटे एक आदमी का इस्तेमाल किया”

यह है ग्रेट ब्रिटेन की शैनन की चौंका देने वाली स्वीकारोक्ति और अपने निर्मम फैसले को वह सही मानती हैं। 42 साल की शैनन के चार साल की एक बेटी हन्नाह है और उसने जानबूझकर 21 साल के आदमी के साथ सेक्स संबंधों के दौरान गर्भनिरोधक का इस्तेमाल नहीं किया। उसने एकाकी अभिभावक होने का रास्ता अपनी मर्जी से चुना और वह अपनी बच्ची को अपना प्रत्येक क्षण देना चाहती है। अकेली महिलाओं को उनकी सलाह है कि यदि वह परिवार चाहती हैं तो इसके लिए उनके पास विकल्प मौजूद है।

इस टीचर ने 12 हजार लड़कियों से बनाए शारीरिक संबंध

यदि आप अविवाहित हैं और एक बच्चे के लिए व्याकुल हैं तो सिर्फ इसके लिए रिलेशनशिप के किसी झमेले में पड़ने की जरूरत नहीं है। जब मैं करीब 30 साल की थी और मेरे अंदर मातृत्व की भावना जोर मारने लगी, मैं चिंतित नहीं हुई न ही मैंने मि. राइट की तलाश शुरू की क्योंकि उसके पहले मैंने इस बारे में सोचा ही नहीं था।

मैंने अपने अनुभवी मित्र से बात की। उसने तमाम ऊंचे नीचे तबकों में एक आदर्श पिता की खोज शुरू की। लेकिन मेरे पास सुनहरे कपड़ों में लिपट कर इंतजार करने का वक्त नहीं था। यह केवल समय की बर्बादी थी।

m-111शैनन बताती हैं कि उन्होंने स्पर्म डोनर क्लीनिक में सम्पर्क किया। बातचीत के दौरान एक 21 साल का लड़का मेरे सामने से गुजरा उसने एक तीखी नजर मुझ पर डाली। और मेरे दिमाग में दूसरा रास्ता कौंधा।

यह भी पढ़ें : इस टीचर ने अपने स्‍टूडेंट के साथ एक दिन में किया 10 बार सेक्‍स

शैनन कहती हैं कि मुझे वह जंच गया, हम करीब आए। गर्माहट के क्षणों में शराब से उसका हौसला बढ़ाया। मन में तमाम सवाल चल रहे थे। यदि हम असुरक्षित सम्बन्ध बना रहे हैं तो क्या होगा। गर्भावस्था का जोखिम होगा। यदि उसने कहा कि वह नतीजे में होने वाले बच्चे के लिए कुछ नहीं करेगा। मै खुद लम्बे समय तक सम्बन्धों को रखने की इच्छुक नहीं थी। मै एक आत्मनिर्भर महिला थी।और अपने दम पर अपने होने वाले बच्चे को पाल सकती थी।

शैनन बताती हैं कि अब मै 42 की हूं। और मेरे पास चार साल की एक बेटी हन्नाह है। और मैंने जितना सोचा था मैं उससे कहीं ज्यादा खुश हूं। मुझे कोई पछतावा नहीं है।

m-113बहुत सारे लोग मेरी आलोचना करते हुए कहते हैं कि मै अपने बच्चे को उसके पिता के प्यार से वंचित रख रही हूं। लेकिन तब क्या होता है जब तीन तीन शादियों की परिणति तलाक में होती है। और हन्नाह को तो अपने अभिभावकों की तकलीफ देह उपेक्षा से नहीं गुजरना पड़ रहा है। मुझे एकाकी मां होने पर कोई पश्चाताप नहीं है। मैंने अपनी इच्छा से इसे चुना है और मैं अपनी बेटी को प्रत्येक क्षण प्यार देना चाहती हूं। हमारे समाज में आज समलैंगिक, हिजड़े, बच्चे पैदा करने में असमर्थ माता पिता बच्चे रख रहे हैं। मुझे विश्वास है कि हमारी अगली पीढ़ी और ज्यादा खुले दिमाग की होगी।

इन तीन महिलाओं को गौर से देखिए, इन्‍होंने किया है मर्द का गैंगरेप

लोग मुझ पर स्पर्म चोरी का आरोप लगा सकते हैं लेकिन जो कुछ भी हुआ वह अचानक से नहीं हुआ हम लोगों ने सात हफ्ते तक एक दूसरे को देखा समझा। हां ये मैने कल्पना नहीं की थी कि पहली बार में ही मुझे कामयाबी मिल जाएगी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button