काशी में अब नहीं होगी योगी कैबिनेट बैठक, जानें इसके पीछे क्या है वजह

16 दिसंबर को होने वाली योगी कैबिनेट की बैठक कैंसिल

काशी जो हिंदूओं का बड़ा पवित्र स्थल है. धर्म और आध्यात्म की नगरी के नाम से मशहूर काशी में अब योगी कैबिनेट बैठक नहीं होगी. खबर है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 दिसंबर को यहां होने वाली कैबिनेट बैठक कैंसिल कर दी है. दरअसल 15 दिसंबर से राज्य में विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है और सीएम योगी के इस कदम के पीछे यही वजह बताई जा रही है. बता दें कि विधानसभा में 16 दिसंबर को सीएम योगी की मौजूदगी में अनुपूरक बजट पेश किया जाएगा, जिसे 17 दिसंबर को बजट पर चर्चा के बाद पास किया जाएगा.

बीजेपी का माना जा रहा था मास्टरस्ट्रोक

योगी सरकार की आगामी कैबिनेट बैठक 16 दिसंबर को काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर में आयोजित होनी थी. देश में यह पहला मौका होता जब किसी निर्वाचित सरकार की कैबिनेट बैठक मंदिर परिसर में आयोजित होती. इस बैठक में मुख्यमंत्री के साथ ही दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा के अलावा पूरी कैबिनेट और आला अधिकारी भी मंदिर में जुटते. सरकार के इस कदम को एक संदेश देने की कोशिश की तरह देखा जा रहा था कि लखनऊ के बाद वाराणसी प्रदेश की दूसरी राजधानी है. इसे आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता में वापसी की कवायद में जुटी बीजेपी का मास्टरस्ट्रोक भी माना जा रहा था.

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन

बता दें कि पीएम मोदी ने सोमवार 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन किया. पीएम मोदी के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी शासित राज्यों के तमाम मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री इन दिनों काशी में मौजूद हैं. पीएम मोदी के साथ इन सभी ने सोमवार शाम को गंगा आरती देखी.

यह भी पढ़ें- UP में ‘आकांक्षा’ के भरोसे बीजेपी, तैयार किया मेगा प्लान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles