योगी सरकार ने मीरजापुर में विन्ध्यवासिनी मंदिर में काॅरीडोर के प्रस्ताव को दी मंजूरी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मीरजापुर में विन्ध्यवासिनी मंदिर (काॅरीडोर) परिक्रमा मार्ग बनाये जाने के लिये परियोजना के क्रियान्वयन के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है।

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मीरजापुर में विन्ध्यवासिनी मंदिर (काॅरीडोर) परिक्रमा मार्ग बनाये जाने के लिये परियोजना के क्रियान्वयन के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की बैठक में शुक्रवार को परियोजना की अग्रेत्तर कार्यवाही के लिये निर्णय लिए जाने के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत किया गया है। मीरजापुर स्थित आदि शक्ति माँ विन्ध्यवासिनी देवी मंदिर आस्था का केन्द्र है।

विन्ध्याचल स्थित मुख्य मंदिर मां विन्ध्यवासिनी धाम के चारों तरफ परम्परागत तौर पर श्रद्धालुओं द्वारा परिक्रमा की जाती है लेकिन मंदिर परिसर में परिक्रमा मार्ग सीमित एवं संकरा होने के कारण दुर्घटना की सम्भावना बनी रहती है। उन्होने बताया कि विन्ध्यवासिनी मंदिर (काॅरीडोर) परिक्रमा मार्ग बन जाने से पर्यटक सुविधाओं में वृद्धि होगी तथा दुर्घटना की सम्भावना कम की जा सकेगी। विन्ध्यवासिनी मन्दिर काॅरीडोर बनाए जाने के लिये विन्ध्यवासिनी मंदिर के आस-पास चारों ओर 50 फीट चौड़ाई वाला परिक्रमा पथ बनाया जाएगा।

ये भी पढ़े : यूपी में उपचुनाव के अंतिम दौर में कांग्रेस ने झोंकी पूरी ताकत, तूफानी दौरे जारी

प्रवक्ता ने बताया कि विन्ध्यधाम गंगा नदी के तट पर स्थित है जहां प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना अर्थ गंगा के अन्तर्गत जलक्रीड़ा एवं साहसिक पर्यटन की अपार सम्भावनाएं विद्यमान हैं। इसके साथ ही साथ विन्ध्याचल के समीप अनेक जल प्रपात यथा विन्डम फाॅल, कुशेरा फाॅल, टाडा फाॅल आदि भी स्थित है, जहां पर ईको टूरिज्म की अत्यधिक सम्भावनाएं विद्यमान हैं। विन्ध्यधाम में पर्यटन सुविधाओं के विकास से यहां पर विभिन्न श्रेणी के पर्यटकों का आवागमन बढ़ेगा और स्थानीय स्तर पर रोजगार सृजन के साथ-साथ पूंजी निवेश में भी वृद्धि होगी।

Related Articles

Back to top button