योगी सरकार युवाओं को दे सकती है ये खास तोहफा, 22 फरवरी को पेश होगा बजट

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार (Yogi Government) इस बार प्रदेश के युवाओं को खास तोहफा दे सकती है. इस बार के बजट (Budget)  में प्रदेश सरकार हर जिले में 1000 छात्रों को टैबलेट देने का ऐलान कर सकती है. आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए प्रदेश सरकार युवाओं और छात्रों के लिए किये गए अपने कई और वादों को पूरा कर सकती है.

भाजपा (BJP) ने 2017 के विधानसभा चुनाव में अपने लोक कल्याण संकल्प पत्र में मुफ्त लैपटॉप और स्वामी विवेकानंद युवा इंटरनेट योजना के तहत हर महीने 1GB डाटा मुफ्त देने का वादा किया था. ऐसे में चुनाव को ध्यान में रखते हुए इस बार के बजट में प्रदेश की योगी सरकार हर जिलें में कॉलेज में एडमिशन लेने वाले 1000 छात्रों को ये खास तोहफा दे सकती है.

एक योजना ऐसी भी

योगी सरकार (Yogi Government) ने छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए 10वीं 12वीं के टॉपर्स के घर तक जाने वाली सड़क का नाम उनके नाम करने की योजना को शुरू किया था. इसके तहत अब तक प्रदेश के अलग-अलग जिलों में दसवीं-बारहवीं के टॉपर की गली और सड़क का नाम उनके नाम किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें: छोटे पर्दे पर किसका दबदबा, जानिए टॉप 5 टीआरपी (TRP) सीरियल्स के नाम

22 फरवरी के बजट में क्या है ख़ास?

22 फरवरी को बजट पेश किया जायेगा. वित्तमंत्री सुरेश खन्ना वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट सदन में पेश करेंगे. उसमें किन योजनाओं में सरकार ज्यादा पैसा अलॉट करेगी या फिर कौन से सेक्टर सरकार की प्राथमिकताओं में रहेंगे इसकी झलक बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण में ही देखने को मिली थी.

राज्यपाल ने सरकार के काम को सराहा

45 पन्नों के अभिभाषण को जब राज्यपाल आनंदीबेन ने पढ़ना शुरू किया, उस दौरान सदम में हंगामा मच गया. लेकिन राज्यपाल ने बिना रुके करीब 45 मिनट में अभिभाषण को पूरा पढ़ते हुए कहा कि उनकी सरकार पदेश के विकास के लिए लगातार अच्छे प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा हमारी सरकार ने अयोध्या के विकास की तरफ विशेष ध्यान दिया, सरकार का ये कदम सराहनीय है.

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) जिस तरह अयोध्या के विकास के लिए तत्पर है उससे साफ़ पता चलता है कि सरकार इसके लिए अच्छा खासा फंड देने वाली है.

यह भी पढ़ें: आईजीआई दिल्ली एयरपोर्ट पर निशानेबाज का हुआ अपमान, खेल मंत्री से की शिकायत

Related Articles

Back to top button