योगी सरकार ने दिल्ली में अवैध कब्जे से मुक्त करायी करोड़ों की सरकारी जमीन

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं जलशक्ति मंत्री डा. महेन्द्र सिंह के निर्देश पर दिल्ली स्थित मदनपुर खादर में सिंचाई विभाग के हेडवर्क्स खण्ड आगरा नहर ओखला द्वारा अभियान चलाकर 5.21 एकड़ जमीन को अतिक्रमण युक्त कराया गया, उसके अलावा सिंचाई विभाग के अन्य जमीनों पर किये गये अतिक्रमण को हटाने के लिए बड़े पैमाने पर शीघ्र ही कार्यवाही की जायेगी।
यह जानकारी सिंचाई विभाग ओखला संगठन के अधिशासी अभियन्ता वीके सिंह ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि मदनपुर खादर में आज सुबह 04 बजे कार्यवाही करके सिंचाई विभाग की भूमि पर रोहिंग्या कैम्पों को हटाते हुए तमाम अवैध निर्माण विस्थापित किये गये। यह जमीन दिल्ली के मदनपुर खादर में स्थित है, जिसका कुल क्षेत्रफल 2.1080 हेक्टेअर है, इसकी कीमत 97 करोड़ रूपये है।

अधिशासी अभियंता ने बताया कि इस भूमि से सटी जकात फाउडेशन की भूमि पर पहले रोहिंग्याओं की बस्ती बसी हुई थी। इन लोगों ने सिंचाई विभाग की आज खाली करायी गयी भूमि पर स्थायी/अस्थायी कब्जा कर लिया था। मुख्यमंत्री एवं जलशक्ति मंत्री ने इन अवैध कब्जों को हटाने के लिए अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये थे। इन अधिकारियों ने दिल्ली प्रशासन के अधिकारियों के साथ 20 जुलाई, 2021 को बैठक करके इस जमीन को खाली कराये जाने का निर्णय लिया।

इस निर्णय के तत्काल अनुपालन के लिए आज 22 जुलाई, 2021 को प्रातः उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों एवं दिल्ली पुलिस, सिविल डिफेंस स्वयं सेवकों की मदद से ग्राम मदनपुर खादर में सिंचाई विभाग की विभागीय भूमि खसरा नं0- 612 को अतिक्रमण युक्त करा लिया गया। इस कार्यवाही के दौरान सिंचाई विभाग के अधिकारियों में सहायक अभियंता धीरज कुमार प्रथम, जिलेदार शशिभान सिंह के अलावा अन्य राजस्व कर्मी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें : 179 प्रवक्ता व 2667 अस्सिटेंट टीचर पद पर होगी ऑनलाइन नियुक्ति, NIC से बनाई वेबसाइट

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles