योगी सरकार ने श्रमिक पंजीयन एवं नवीनीकरण शुल्क में दी 31 मार्च तक की छूट

उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिक पंजीयन एवं नवीनीकरण शुल्क में 31 मार्च तक की छूट प्रदान की है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिक पंजीयन (Labor registration) एवं नवीनीकरण शुल्क (Renewal fees) में 31 मार्च तक की छूट प्रदान की है। श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि अधिक से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण (Registration) एवं नवीनीकरण कर उन्हें विभाग द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करें।

कोविड-19 (COVID-19) महामारी के कारण गरीबों एवं श्रमिकों को परेशानी से बचाने के लिए तथा उनके विकास के रास्ते खुले रहें इसके लिए श्रमिक पंजीयन एवं नवीनीकरण शुल्क में 31 मार्च तक की छूट प्रदान की है।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने श्रमिक पंजीयन में अपेक्षित प्रगति ना करने वाले गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, अलीगढ़, बांदा एवं आगरा क्षेत्र के तथा बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, कासगंज, हरदोई एवं उन्नाव जिले के अधिकारियों को शीघ्र ही लक्ष्य के अनुरूप श्रमिकों का पंजीकरण करने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें : प्रॉपर्टी विवाद के चलते युवक की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

उन्होंने गौतमबुद्धनगर, लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर एवं अयोध्या के क्षेत्रीय तथा उन्नाव, बुलंदशहर एवं भदोही के जिला अधिकारियों को अधिक से अधिक श्रमिकों का नवीनीकरण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा वर्तमान वित्तीय वर्ष में अभी तक श्रमिक पंजीयन में 2482427 लक्ष्य के सापेक्ष 75.75 प्रतिशत की प्रगति के साथ 1880386 श्रमिकों का पंजीकरण किया गया है।

ये भी पढ़ें : यमुना में अमोनिया की मात्रा बढ़ने के कारणों का अध्ययन करेगी सीपीसीबी

इसी प्रकार श्रमिकों के नवीनीकरण में 3464841 लक्ष्य के सापेक्ष 22.65 प्रतिशत की प्रगति के साथ 784923 श्रमिकों का नवीनीकरण किया गया है। उन्होंने कहा कि श्रमिक पंजीयन एवं नवीनीकरण की स्थिति दर्शाती है कि श्रम विभाग के अधिकारियों की श्रमिकों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देने के प्रति मनोदशा अच्छी नहीं है।

Related Articles

Back to top button