उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने महिलाओं और बच्चियों के साथ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए कसी कमर,बनेगा नया संगठन

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के खिलाफ लगातार अपराधों के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने एक नई संस्था बनाने की घोषणा की है.महिलाओं के साथ बढ़ती बर्बरता की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने ‘महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन’ बनाने की घोषणा की है.जिसकी जिम्मेदारी  ADG रैंक के पुलिस ऑफिसर को सौंपी जायेगी.और यह यूनिट महिलाओं और बच्चियों के साथ होने वाले अपराधों पर विशेष रूप से केन्द्रित हो कर कार्य करेगी.

इसमें शामिल किये जायेंगे पहले से चल रहे संगठन

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से कहा गया है कि ‘महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों पर नियंत्रण के लिए ‘महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन’ के गठन और ‘अपर पुलिस महानिदेशक, महिला एवं बाल विकास सुरक्षा’ नए पद के निर्माण को स्वीकृति दी जा रही है. सरकार ने बताया  है कि उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में पहले से चल रही महिला उत्पीड़न संबंधी यूनिट्स- महिला सम्मान प्रकोष्ठ, महिला सहायता प्रकोष्ठ,1090 को नए बनाए जा रहे ‘महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन’ में ही शामिल कर दिया जायेगा .

प्रदेश में बढ़ी हैं महिलाओं के साथ अपराध की घटनाएं

बता दें की पिछले कुछ दिनों से उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथं बर्बरता रेप जैसी घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं.अपराधी बेखौफ इन घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं.और पुलिस हाँथ पर हाँथ धरे देख रही है.कुछ दिन पहले ही प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में एक 13 साल की बच्ची के साथ हैवानियत की घटना सामने आई थी.दरिन्दो ने बलात्कार के बाद बच्ची की आँखे निकाल ली,जीभ काट ली उतने से जी नहीं भरा तो बच्ची का गला दुपट्टे से बांध कर गन्ने के खेत में घसीट घसीट कर के मार दिया.जिसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी हुई.ऐसी ही घटना अगले ही दिन गोरखपुर के गोला बाज़ार से सामने आयी. जहां नाबालिग का दो दरिन्दो नें रेप किया और उतने से जी नहीं भरा तो शरीर पर जगह जगह सिगरेट से जला दिया.

यह भी पढ़ें:

उत्तर प्रदेश में मासूम दलित बच्ची की नृशंस हत्या,हैवानों ने गैंग रेप के बाद निकाल ली आँखें

उत्तर प्रदेश बना रेप प्रदेश,मुख्यमंत्री के जिले गोरखपुर में नाबालिग के साथ हैवानियत की हदें पार

Related Articles