UP विधानसभा में शोर के बीच योगी सरकार ने पेश किया 8 हजार 479 करोड़ का अनुपूरक बजट, जानें क्या है खास

किसानों-युवाओं पर फोकस

UP विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन योगी आदित्यनाथ सरकार अनुपूरक बजट पेश किया. वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के बजट पेश करने के दौरान ही कांग्रेस और सपा के विधायक वेल में आकर प्रदर्शन करने लगे. इनकी मांग लखीमपुर खीरी कांड में एसआइटी रिपोर्ट पर चर्चा की है.

टेनी को बर्खास्त करने की मांग

बता दें. योगी सरकार ने गुरुवार को विधानसभा में चालू वित्तीय वर्ष के लिए 8479.53 करोड़ रुपये का दूसरा अनुपूरक बजट पेश किया. सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहले चार महीनों (अप्रैल से जुलाई) के लिए 1,68,903.23 करोड़ रुपये का लेखानुदान भी विधानसभा में प्रस्तुत किया. आज विधान सभा की कार्यवाही शुरु होते ही सपा और कांग्रेस के सदस्य लखीमपुर खीरी केस की एसआइटी जांच रिपोर्ट पर चर्चा कराने और गृह राज्यमंत्री टेनी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर वेल में आकर नारेबाजी हंगामा करने लगे. इनके हंगामे के बीच ही संसदीय कार्य व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने द्वितीय अनुपूरक बजट, अगले वित्तीय वर्ष 2022-23 के एक भाग के लिए लेखानुदान पेश किया.

दोनों सदनों में पेश अनुपूरक बजट

उत्तर प्रदेश विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही से पहले सीएम योगी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक आयोजित की गई. इसके बाद सदन में इसे पेश किया गया. विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में योगी आदित्यनाथ सरकार चालू वित्तीय वर्ष के लिए दूसरा अनुपूरक बजट दोनों सदनों में पेश किया.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले योगी सरकार ने खोला पिटारा, किया ये बड़ा ऐलान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles