IPL
IPL

रंग में हो सकता है भंग, योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम, इस जिले में लागू धारा 144

लखनऊ: देश के अलग-अलग जगहों पर कृषि कानून का आक्रोश बढ़ता जा रहा है, वहीं पश्चिम यूपी के कई जिलों में किसान महापंचायतें हुई है। अपने इस आंदोलन को ओर विस्तार करने के लिए संगठन मजबूती कर रहा है। उधर योगी सरकार (Yogi government) भी इनसे निपटने के लिए इंतजाम कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath)
ने राजनीतिक दलों के धरने, प्रदर्शन के अलावा यूपी में बढ़ते कोरोना और आने वाले त्योहारा को देखते हुए बड़ा फैसला लेते हुए कहा है कि राजधानी लखनऊ में 5 अप्रैल तक धारा 144 लागू रहेगी।

धारा 144 लागू

संयुक्त पुलिस आयुक्त नवीन आरोड़ा ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि राजधानी लखनऊ में धारा 144 लागू कर दी है। 5 अप्रैल तक यह लागू रहेगी। इस दौरान किसी भी त्योहार में या कोई भी आयोजन के लिए इजाजत लेनी जरूरी होगी। इसके अलावा कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए गाइड लाइन भी जारी की गई है।

ये भी पढ़ें : क्रिकेट में रंग जमाने वाले विराट कोहली की बढ़ी लोकप्रियता, जानें कितने बढ़े फॉलोवर्स

शांति व्यवस्था पर पड़ सकता है असर

इसके अलावा इस आदेश में उन्होंने कहा है कि लखनऊ में राजनीतिक दलों, छात्र संगठनों, भारतीय किसान संगठनों और अन्य संगठनों द्वारा धरना प्रदर्शन होने की आशंका है। अगर ये धारा 144 लागू न की जाती तो इसे शांति व्यवस्था पर असर पड़ सकता है। इसके अलावा ये भी कहा गया है कि कोरोना के बढ़ते प्रभाव से लोगो के जनजीवन पर प्रभावित पड़ सकता है। आपको बता दें कि 11 मार्च में महाशिवरात्रि, 28 को होलिका दहन, 29 को होली और शबे बारात, 2 अप्रैल को गुड फ्राइडे, 3 अप्रैल को ईस्टर सैटरडे और 5 अप्रैल को ईस्टर मंडे के साथ महाराज कश्यप जयंती है। इन त्योहारों के अवसर पर असमाजिक तत्व शांति व्यवस्था भंग कर सकते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए धारा 144 लागू कर दी गई है।

ये भी पढ़ें : यूपी फिल्म सिटी के अंतर्गत इस महत्वपूर्ण संस्थान का होगा निर्माण, सीएम योगी ने दी मंजूरी

Related Articles

Back to top button