अपराधियों पर नकेल कसेगी योगी सरकार, देवबंद के बाद अब इस जिले में बनेगा एटीएस सेंटर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बुधवार को कैबिनेट बैठक की, जिसमे दो बड़े फैसले लिए गए है। इसमे सबसे पहले देवबंद के बाद अब मऊ में भी एटीएस का सेंटर बनाए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, वहीं दूसरे फैसले में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए धान समर्थन मूल्य में बढ़ाेतरी की घोषणा भी कर दी है। ये बढ़त बुधवार से ही लागू मानी जाएगी।

इसके मुताबिक, सामान्य धान के लिए 1940 रुपये प्रति क्विंटल और ग्रेड ए धान के लिए 1960 प्रति क्विंटल की दर तय की गई है। केंद्र सरकार ने इसके दाम बीते माह जून में ही तय कर दिया था लेकिन बैठक के बाद बुधवार से ही लागू कर दिया है।

योगी सरकार ने इससे पहले यूपी एटीएस की 12 इकाइयों की स्‍थापना की संस्तुति की थी। इसके अलावा एटीएस को और मजबूत करने का प्रस्ताव भी मांगा था। इसके सरकार अब इसे ओर मजबूत करने के लिए एटीएस को आधुनिक उपकरणों से लैस करेगी और कर्मचारियों व अधिकारियों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

10 जिलों में एटीएस की ईकाई स्‍थापित

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के संवेदनशील 10 जिलों में एटीएस की ईकाई स्‍थापित करने की बात पहले सामने आई थी. इनमें मेरठ, अलीगढ़, श्रावस्ती, बहराइच, ग्रेटर नोएडा (जेवर एयरपोर्ट), आजमगढ़ (निकट एयरपोर्ट), कानपुर, सोनभद्र, मीरजापुर और सहारनपुर के देवबंद में एटीएस इकाई/कमाण्डो ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किया जाना था। अब इनमें मऊ का नाम भी जुड़ गया है।

इन जिलों में भूमि आवंटन होने की संभावना

भूमि भी हुई आवंटितएटीएस की ईकाई स्‍थापित करने के लिए संबंधित जिलों में भूमि आवंटित हो गई है और भवनों के निर्माण के लिए कार्रवाई चल रही है। इसके अलावा वाराणसी और झांसी में एटीएस इकाई की स्थापना के लिए जल्द ही भूमि आवंटन होने की संभावना है।

Related Articles