कांवड़ यात्रा पर योगी सरकार का सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा, बोले- पूरी तरह नहीं लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में यूपी सरकार ने कहा है कि कांवड़ यात्रा सांकेतिक रूप से चलाई जाएगी। साथ ही सरकार द्वारा इसको लेकर गाइडलाइन्स बनाई जा सकती हैं।

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बीच कांवड़ यात्रा (kanwar yatra) को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। यूपी सरकार द्वारा इस मामले पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में हलफनामा दायर किया गया है। यूपी सरकार (UP government) का मानना है कि प्रदेश में कांवड़ यात्रा पर पूरी तरह रोक नहीं लगे। मामले को लेकर शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है।

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दाखिल हलफनामे में यूपी सरकार ने कहा है कि कांवड़ यात्रा सांकेतिक रूप से चलाई जाएगी। साथ ही सरकार द्वारा इसको लेकर गाइडलाइन्स बनाई जा सकती हैं। तो वहीं, अदालत में केंद्र द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया है कि राज्य सरकार को प्रोटोकॉल के तहत उचित निर्णय लेना चाहिए। केंद्र सरकार के द्वारा सभी एडवाइजरी पहले ही जारी हो चुके है। बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इस साल 25 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू करने की अनुमति दे दी है।

उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा पर लगाई रोक

गौरतलब है कि कोरोना संकट को देखते हुए इस बार उत्तराखंड सरकार ने भी कांवड़ यात्रा पर अपना फुलस्टाप लगा दिया है। हालांकि, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पूर्ण तरीके से रोक नहीं लगाई गई थी। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले में स्वत: संज्ञान लिया गया था।

WHO लगातार चेतावनी दे रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर देश में दस्तक दे चुकी है। पहाड़ी इलाकों में उमड़ रही भीड़ पर भी सरकार की ओर से चिंता व्यक्त की गई है। ऐसे में कांवड़ यात्रा को लेकर कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहे थे।

यह भी पढ़ें: यूपी: प्रियंका गांधी का लखनऊ में तीन दिवसीय दौरा

http://(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

Related Articles