IPL
IPL

योगी सरकार की कैबिनेट का निर्णय, उत्तर प्रदेश में होगा 20 हजार करोड़ का निवेश

लखनऊ: योगी सरकार अपनी नई डाटा सेंटर नीति-2021 के तहत उत्तर प्रदेश में 20 हजार करोड़ का निवेश कराएगी। ये निर्णय मुख्यमंत्री योगी (Yogi) आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में लिया गया। इस बैठक में डाटा सेंटर नीति-2021 को मंजूरी दी गई और समय की आवश्यकताओं के अनुरूप इस निति को सीएम योगी (Yogi) के अनुमोदन के बाद परिवर्तन भी कर सकेंगे।

3 अत्याधुनिक निजी डाटा सेण्टर होगा स्थापित

यूपी डाटा सेण्टर नीति के अन्तर्गत राज्य में 250 मेगावॉट डाटा सेण्टर उद्योग विकसित किया जा सकेगा। यूपी में 20,000 करोड़ रुपए का निवेश होगा तथा कम से कम 3 अत्याधुनिक निजी डाटा सेण्टर पाक्र्स स्थापित कराया जाएगा। इनमे निवेश करने वाली कंपनियों को कई तरह से छूट दी जाएगी। डाटा सेंटर 24 घंटे व रोजाना तीन पालियों में चलाने व महिलाओं को काम करने की छूट मिलेगी। इसके अलावा उन्हें ओपेन एक्सेस निर्बाध बिजली आपूर्ति की सुविधा दी जाएगी।

इनमे मिलने वाली मदद

1-सालाना ब्याज की 60 प्रतिशत तक प्रतिपूर्ति (अधिकतम पचास करोड़ रुपये) की मदद
2-मध्य यूपी व पश्चिम यूपी में डाटा सेंटर लगाने पर जमीन पर 25 प्रतिशत व बुंदेलखंड व पूर्वांचल में 50 प्रतिशत लैंड सब्सिडी मिलेगी। यह कुल परियोजना का लागत का अधिकतम 7.5 प्रतिशत या 75 प्रतिशत में जो भी कम होगा, मान्य होगा।
3-यह सुविधा पहले आने वाली तीन डाटा पार्क को ही मिलेगी।
4-इलेक्ट्रिकसिटी ड्यूटी में सौ प्रतिशत की छूट दस सालों तक मिलेगी।
5-डाटा सेंटर उद्योग को आवश्यक सेवा प्रदाता के रूप में मानते हुए एस्मा में वर्गीकृत किया जाएगा।

6-जमीन खरीदने पर स्टांप शुल्क में सौ प्रतिशत छूट मिलेगी।
7-पहले तीन डाटा सेंटर पार्क को डबल ग्रिड लाइन से बिजली आपूर्ति की जाएगी। इसमें दूसरे ग्रिड की लागत ऊर्जा      विभाग वहन करेगा
8-राज्य से बाहर बिजली आयात पर पांच साल तक ट्रांसमिशन शुल्क में सौ प्रतिशत की छूट मिलेगी।
9-डाटा सेंटर जमीन व भवन की लागत छोड़ कर जितना निवेश करेंगी, उस पर कैपिटल सब्सिडी के रूप मेंअधिकतम   20 करोड़ मिलेंगे।
10-डाटा सेंटर पार्क के लिए 3.0 व 1.0 (क्रय योग्य) फ्लोर एरिया रेशियो की अनुमति होगी।
11-एक मंजिल में फर्श से छत की ऊंचाई पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। पार्किंग पांच प्रतिशत क्षेत्र तक सीमित रखने की सुविधा होगी। चहारदिवारी 3.6 मीटर ऊंची रखी जा सकेगी।

Related Articles

Back to top button